Search

Press Note

संत रविदास जी ने कहा था जो समाज के लिए जिएगा वही 100 साल जिएगा : नवीन जयहिंद

संत रविदास जी ने कहा था जो समाज के लिए जिएगा वही 100 साल जिएगा : नवीन जयहिंद जाति जन्म से नहीं कर्म से होती है: नवीन जयहिंद बीते शनिवार रोहतक के मोखरा गांव में संत परंपरा के महान योगी और परम ज्ञानी संत शिरोमणि रविदास जी की 647वीं जयंती के उपलक्ष्य में समारोह आयोजित किया गया जिसमे जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद पहुंचे और जनसभा को संबोधित किया । जयहिंद ने अपने संबोधन में कहा कि जो निस्वार्थ भाव से समाज की भलाई के लिए काम करेगा इतिहास उसे ही याद रखता है । हमें संत रविदास जी की विचारधारा से प्रेरणा लेनी होगी और समाज के भले के लिए काम करना होगा । जयहिंद ने कहा कि संत-महात्मा और क्रांतिकारियों की कोई जात-बिरादरी नहीं होती है । आज के दिन जो समाज पढ़ेगा-लिखेगा और संघर्ष करेगा वही आगे बढ़ेगा । जाति कर्म से बनती है न कि जन्म से नहीं । जयहिंद ने मन चंगा तो कटौती में गंगा कहावत का ज़िक्र करते हुए कहा कि जब मन साफ़ होता है तो इंसान ग़रीबी में भी सुख चैन और लंबा जीवन जी लेता है । जयहिंद ने युवाओं के लिए भी कहा कि आज के युवा में सामाजिक चेतना होना ज़रूरी है जो उसे हक़ -अधिकार और न्याय के लिए संघर्ष की प्रेरणा दे और निष्पक्ष बात कहने से कभी पीछे न हटे ।

हरियाणा प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री पंडित भगवत दयाल शर्मा जी की 31वीं पुण्यतिथि पर बेरी पहुंचे: नवीन जयहिन्द

हरियाणा प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री पंडित भगवत दयाल शर्मा जी की 31वीं पुण्यतिथि पर बेरी पहुंचे: नवीन जयहिन्द पंडित भगवत दयाल शर्मा जी की मुख्यमंत्री होने से भी बड़ी पहचान यह थी की वें एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे : नवीन जयहिंद झज्जर । बीते वीरवार 22 फरवरी को जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिन्द महान स्वतंत्रता सेनानी व हरियाणा के पहले मुख्यमंत्री पंड़ित भगवत दयाल शर्मा जी की 31वीं पुण्यतिथि पर बेरी(झज्जर) में स्थित पंडित भगवत दयाल शर्मा पार्क पहुंचे जहाँ उन्होंने पंडित भगवत दयाल शर्मा जी की प्रतिमा पर फूल चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। जिसके बाद जयहिन्द ने सभा को सम्बोधित किया पंडित भगवत दयाल शर्मा जी की मुख्यमंत्री से भी बड़ी पहचान यह थी कि वे एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे। इसके साथ वे राज्यपाल भी रह चुके थे। पंडित भगवत दयाल शर्मा जी की पुण्यतिथि पर बच्चो ने योगा व गायकी की प्रदर्शनी भी की, जिनका नवीन जयहिन्द ने 1100 रुपए देकर मान-सम्मान किया। पंडित भगवत दयाल शर्मा जी एक स्वाभिमानी और समाज के हक़ की लड़ाई लड़ने वाले व्यक्ति थे । वे जिस सम्मान के हक़दार है वो उन्हें न तो समाज से मिला और न ही किसी सरकार से । आज समाज की ज़िम्मेदारी बनती है कि व्यक्ति ने अपना पूरा जीवन समाज और देश के लिए संघर्ष में बिता दिया उसे कम से कम एक दिन याद कर सम्मान दे सके । जयहिंद ने कहा कि आज समाज को उनके विचारों को अपनाना चाहिए । संघर्ष से पीछे नहीं हटने वाले पंडित जी हमेशा हक़ के लड़ने वाले थे । किसी राजनेता के सामने हाथ जोड़ने से समाज का भला नहीं होगा । आज संघर्ष के साथ खड़े होने वाले बहुत कम लोग बचे है । आज समाज के किए संघर्ष करने वाले लोगों की ज़रूरत है ।

विधानसभा सेशन में SYL के मुद्दे पर एक दिन हो चर्चा - जयहिंद

विधानसभा सेशन में SYL के मुद्दे पर एक दिन हो चर्चा - जयहिंद* *विधानसभा में पक्ष -विपक्ष दल के विधायक SYL पर करें अपनी स्तिथि स्पष्ट -जयहिंद* *SYL का पानी लाने वाले को दिया जाएगा 1- 1 लाख का ईनाम -जयहिंद* *राजनेता और किसान नेता SYL अपना रुख स्पष्ट करें -जयहिंद* *हरियाणा की ढ़ाई करोड़ जनता के लिए न्याय मांगने जायेंगे सुप्रीम कोर्ट - जयहिंद* बीते रविवार रोहतक राजीव गांधी स्टेडियम के सामने सेक्टर 6 टैंट से जयहिंद सेना प्रमुख डॉ नवीन जयहिंद ने SYL को लेकर साथियों के साथ मीटिंग और प्रेसवार्ता की। पत्रकारों से बातचीत में नवीन जयहिंद ने कहा कि आज कोई भी SYL के मुद्दे पर बात नही कर रहा वो चाहे कोई नेता ,राजनेता, किसान नेता हो। चाहे कोई भी हो SYL की जो बात नही कर रहा वो हरियाणा का गद्दार है । जयहिंद ने SYL के पानी लाने पर “पहले आओ पहले पाओ” का नारा देते हुए नवीन जयहिंद ने कहा जो भी नेता, मंत्री, मुख्य्मंत्री SYL नहर निर्माण की बात करेगा उन्हें वो 1 लाख का इनाम देंगे, साथ ही जयहिंद ने कहा अगर SYL नहर निर्माण हो जाता है तो वो उस इनाम को बड़ा कर 11 लाख कर देगें और पूरे हरियाणा की जनता का भंडारा करेंगे । जयहिंद ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, किसान नेता राकेश टिकैत, गुरनाम सिंह चढ़ुनी सहित तमाम नेता और मंत्री सिर्फ़ इतना कह दे कि सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला लागू होना चाहिए और SYL नहर का निर्माण होना चाहिए वे एक लाख रुपये इनाम देनेको तैयार है । पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए जयहिंद ने कहा 20 फ़रवरी से हरियाणा का विधानसभा सत्र शुरू हो रहा है और वो अपनी मांग को लेकर विधानसभा में जायेंगे और हर मंत्री से सवाल पूछेंगे । प्रदेश में 90 विधायक और 15 सांसद है न तो संसद में और न ही विधानसभा में हरियाणा के हक़ की आवाज़ उठा रहे है । बीजेपी के तो मैनिफेस्टो में भी SyL नहर के निर्माण और सुप्रीम कोर्ट में हरियाणा की मजबूत पैरवी रखने का ज़िक्र है। SYL कोई राजनीतिक नहीं न्यायिक मुद्दा है । जयहिंद ने कहा कि सरकारी आँकड़ों के मुताबिक़ हरियाणा के 10 लाख एकड़ ज़मीन पानी की कमी के कारण बंजर पड़ी है और इस ज़मीन पर 40 लाख टन अनाज पैदा किया जा सकता है । 70% हरियाणा के लोग जहरीला पानी पी रहे हैं जिसके कारण हरियाणा के लोगो को अलग अलग बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है । गावों में गर्मियों में पानी के लिए पशु और आम जनता दोनों तरस रहे होते है । पानी पर किसी एक का हक़ नहीं है और न किसी एक बिरादरी को पानी चाहिए । साफ़ पानी तो सबकी आधारभूत ज़रूरत है । 36 बिरादरी को पानी चाहिए । साथ ही जयहिंद ने SYL नहर निर्माण को लेकर पत्रकार साथियों और जो भी सोशल मीडिया के जरिए सवाल उठा सके है उन सब से अपिल की वो SYL को लेकर जरूर आवाज उठाए, पानी किसी एक की जरूरत नही पानी सभी को चाइए नवीन जयहिंद ने मटका फोड़ प्रर्दशन का जिक्र करते हुए कहा जो पार्टियाँ बरसाती मेढ़को की तरह आते है और सिर्फ राजनीति करते है अगर SYL की बात नही करते और मटका फोड़ प्रदर्शन करते है तो उनके मटके फोड़ प्रदर्शन हम करेंगे । वही नवीन जयहिंद ने सुप्रीम कोर्ट ने नाम एक पत्र भी लिखा जिसमें उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से SYL नहर के निर्माण और हरियाणा को अपने हक़ का पानी दिलाने के मामले में हस्तक्षेप की बात कही । जयहिंद ने लिखा कि हरियाणा की जनता SYL के मुद्दे पर न्याय की बांट जौह रही है । पंजाब और हरियाणा की सरकार वार्ताओं से आगे नहीं बढ़ पा रही है। इसी में बॉक्स नवीन जयहिंद ने किसान आंदोलन पर पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा कि MSP का समर्थन करते और आंदोलन के साथ है लेकिन शांतिपूर्ण आंदोलन के पक्ष में है । नुक़सान किसी का भी हो भुगतना निर्दोष जनता को करना पड़ता है

पुलिस नहीं दे रही गवाही, सरकार चाहती है कि कोर्ट के चक्कर लगाते रहे जयहिन्द

पुलिस नहीं दे रही गवाही, सरकार चाहती है कि कोर्ट के चक्कर लगाते रहे जयहिन्द गौ माता के लिए सौ केस भी मंजूर है - नवीन जयहिन्द रोहतक : तकरीबन 8 साल पहले जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिन्द ने प्रदेश में एक खूंटा गाड़ अभियान चलाया था जो कि हरियाणा में गायो की दुर्दशा को देखते हुए चलाया गया था। इसको लेकर जयहिन्द ने उस समय वित्त मंत्री रहे कैप्टन अभिमन्यु के घर के बाहर खूंटा गाड़कर गाय बांधी थी। जिसके चलते जयहिन्द पर केस किया गया। इसी केस को लेकर आज नवीन जयहिन्द रोहतक कोर्ट में गवाही देने पहुंचे, जहां कोर्ट ने अगली तारिख 20 मार्च निश्चित की । इस दौरान कोर्ट में एडवोकेट मदनलाल भारतीय, नवीन जयहिंद की अगुवाई करने के लिए मौजूद रहे।लेकिन पुलिस की तरफ से कोर्ट में गवाही देने के लिए आज भी कोई नहीं पहुंचा। जयहिन्द ने बताया कि पता नही क्या कारण है कि पुलिस मेरे केस में गवाही देने नही आ रही, इसके पीछे हमे यह मंशा लगती है कि मानो सरकार नही चाहती के जयहिन्द के केस में पुलिस की गवाही हो और जयहिन्द ऐसे ही कोर्ट के चक्कर लगाता रहे। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि गौ माता की सुरक्षा के लिए मुझ पर चाहे सौ केस लग जाए, हमे कोई परवाह नही। गौ माता के लिए हमारी जान भी हाजिर है। जयहिन्द ने बताया कि 8 साल पहले प्रदेश में गायो की दुर्दशा देखते हुए हमने खूंटा गाड़ अभियान चलाया था और आज भी स्थिति वही है। आप देख सकते है कि कैसे सड़को पर गौ माता कचरा खाती घूम रही है, ऐक्सीडेंट में मर रही है और सुनने वाला भी कोई नही है। इसी बॉक्स में— नवीन जयहिंद ने हाल ही रोहतक में हुए एक एक्सीडेंट का जिक्र करते हुए बताया कि रोहतक में वीटा प्लांट के नज़दीक एक एक्सीडेंट में चार गौ माता और एक बछड़े की कार एक्सीडेंट के दौरान मौत हो गई और साथ है एक गौभक्त घायल हो गया । उसका जिम्मेवार कौन है सरकार या प्रशासन ? वे गौ माता के लिये एक बार नहीं हज़ार बार जेल जाने को तैयार है । आज भी गौ माता सड़कों पर कूड़ा खा रही है । गौ चरण भूमि आज भी सरकार मुहैया नहीं करवा सकी है गाय के नाम पर सिर्फ़ राजनीति की रही है और वोट लूटे जा रहे है । लेकिन गाय माता को कुछ नहीं मिल रहा है ।

जब पीएम मोदी जी अपने घर गऊ रख सकते है, तो सीएम मनोहर लाल जी भी अपने घर गऊ जरूर बांधे : नवीन जयहिंद

जब पीएम मोदी जी अपने घर गऊ रख सकते है, तो सीएम मनोहर लाल जी भी अपने घर गऊ जरूर बांधे : नवीन जयहिंद गाय के लिए दी गई ग्रांटो में एक भी रूपए कोई खाता है तो नरक में जाएगा हरियाणा में हड़वारे बंद हो (जहा मरने के बाद डाली जाती है गाय) : नवीन जयहिंद एक सच्चे गौ भगत में एक हजार व्यक्तियों की ताक़त होती है : नवीन जयहिंद नेताओं को घर में कुत्ते की जगह गाय बंधनी चाहिए : नवीन जयहिंद जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद बीते बुधवार जींद जाट धर्मशाला में पहुंचे जहा गौ सेवा दल ने गौ माता की सुरक्षा के लिए जींद में एक कार्यक्रम रखा जिसमें गौमाता के सम्मान को लेकर कई अहम मुद्दे रखे गए। नवीन जयहिंद ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जब हमारे देश के प्रधानमंत्री मोदी जी अपने घर गाय रखते है तो हमारे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी को भी अपने घर गाय बांधनी चाहिए। और आम जनता भी अपने घर एक गाय ज़रूर रखें । जितने भी सांसद, विधायक और मंत्री है सभी अपने घरों पर गाय बंधे। तभी लोगो के बीच यह संदेश जाएगा कि गौ माता की सेवा व रक्षा कैसे करते है। नही तो ऐसे ही गाय सड़कों लावारिश घूमती रहेगी, कूड़ा कचरा खाती रहेगी। सरकार के साथ समाज की भी जिम्मेदारी बनती है कि सड़कों पर घूम रहीं गाय माता को इस कड़कती ठंड में चारा और सर्दी से बचाने की व्यव्स्था की जाएं। साथ ही सभी बेजुबान और लावारिश जानवरों की भी मदद करें। जयहिंद ने कहा कि आप देख सकते है कि कैसे सड़को पर गौ माता कचरा खाती घूम रही है, जिससे ऐक्सीडेंट में गौ माता भी मर रही है और उसके बेटे भी मर रहे है और सुनने वाला भी कोई नही है। सरकार ने गौ माता को सिर्फ वोट का जरिया बना कर छोड़ दिया है चुवाव के समय गाय के नाम पर वोट तो ले लिया लेकिन खाने के लिए चारा नही दिया। जयहिंद ने बताया जिस तरह से ठेकेदारों द्वारा जो हड़वारा सिस्टम गाय के मरने के बाद शरीर की हडियो को बेच दिया जाता है वो गलत है इस पर सरकार को जल्द ही कोई कार्यवाही करनी चाहिए । जयहिंद ने कहा कि सरकार इस तरह से गौ माता का अपमान करवाना बंद ककरें और गाय के दाह संस्कार की उचित व्यवस्था करवाये । आज प्रदेश में हज़ारों एकड़ गौचरण भूमि है जिसका दुरपयोग हो पा रहा है। सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को लागू करते हुए इस भूमि को गौ माता की सेवा में लगाये। इसी में बॉक्स - नवीन जयहिंद ने पहले भी गौ माता के चारे के लिये “खूँटा गाड़” अभियान चलाया था और पूर्व वित्त मंत्री के घर गाय बाँधी थी । जिसका केस आज भी वो भुगत रहे है । जयहिंद ने कहा कि गौ माता के लिये वो एक क्या हज़ार केस भुगतने को तैयार है । इसी में बॉक्स एक नहीं 11-11 लाख देने को तैयार - जयहिंद पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि जयहिंद को दस रुपये से लेकर एक लाख रुपये देने वाले लोग है। SYL नहर निर्माण की बात करे दोनो मुख्यमंत्री एक लाख नहीं वो ग्यारह लाख भी दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पंजाब मुख्य्मंत्री भगवंत मान को देने को तैयार है । वे खुद्दार नहीं हरियाणा के ग़द्दार है ।

SYL पर दो शब्द नहीं बोले केजरीवाल मान क्या जीभ को लकवा लग गया था – जयहिन्द

SYL पर दो शब्द नहीं बोले केजरीवाल मान क्या जीभ को लकवा लग गया था – जयहिन्द ईडी सीडी से वो डरते है जिन्होंने कांड कर रखे है जयहिंद दिल्ली पंजाब से लोग आए हरियाणा वाले खुद्दार निकले ना किसानों को पानी देना चाहते ना लोगो को पानी पिलाना चाहते ये लोग जयहिन्द सेना प्रमुख नवीन जयहिन्द रविवार 28 जनवरी को अपने साथियों सहित नोटो से लदी ट्रैक्टर ट्रैली पर जींद में हो रही सीएम अरविन्द केजरीवाल व सीएम भगवंत मान की रैली में उनसे सवाल करने निकले तो सैकड़ो पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोकने की कोशिश की जिसके बाद जयहिंद ने प्रशासन को आश्वासन दिया कि वे शान्ति पूर्ण तरीके से अपने सवाल पूछने जा रहे है। तो पुलिसकर्मियों ने उन्हें जाने दिया और सैकड़ो पुलिसकर्मी जयहिन्द की यात्रा के साथ–साथ चले। जैसा कि नवीन जयहिन्द ने दोनों मुख्यमंत्रियों को SYL मामले पर नहर का निर्माण करवाने व सुप्रीम कोर्ट का निर्णय लागू करवाने का बयान देने पर 1-1 लाख रुपए ईनाम देने की घोषणा की थी। लेकिन बताया जा रहा है कि दोनों सीएम ने अपने भाषण में SYL मामले पर दो शब्द तक नही बोले। इस पर जयहिन्द ने कहा कि क्या SYL का नाम लेते वक़्त उनकी जीभ को लकवा लग गया था? या याददाश भूल गए थे? SYL का जिक्र तक नही किया। हरियाणा की जनता जो जहरीला पानी पी रही है वे कोई दूध या दारू नही मांग रहे थे बल्कि वे अपने हक़ का पानी मांग रहे थे। हरियाणा की जनता ने यह देख लिया कि ये दोनों मुख्यमंत्री किस तरह सुप्रीम कोर्ट को भी कुछ नही मान रहे है। सुप्रीम कोर्ट के मान सम्मान के लिए ही हम उनसे सवाल पूछने आये थे और SYL के लिए जो भी लड़ाई हम लड़ सकते है जरूर लड़ेंगे। एक पत्रकार साथी के सवाल का जवाब देते हुए जयहिन्द ने कहा कि सांच को आंच क्या, ईडी से क्या डरना। ईडी और सीडी से वही व्यक्ति डरता है जिसमे कमी हो।केजरीवाल व भगवंत मान syl पर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय न मान कर सुप्रीम कोर्ट और संविधान का उल्लंघन कर रहे है और गणतंत्र को लठतंत्र बनाना चाह रहे है। हरियाणा के 22 में से 17 जिलों में पानी की कमी है। सभी जिलों में लोग जहरीला पानी पी रहे है जिससे उनको अनेको बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है जैसे लोगो के समय से पहले बाल सफेद व गंजे हो जाते है। 80% हरियाणा के गाँवों में भूमिगत जलस्तर (चौवा) एक हजार फ़ीट निचे जा चुका है जिसके कारण किसानों को खेती व आम जनता को पानी की समस्या हो रही है। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि अगर SYL का पानी हरियाणा को मिले तो 40 लाख टन अनाज किसान हर साल उगाकर जनता का पेट भर सकते है। यह राजनीतिक लड़ाई नही बल्कि न्याययिक लड़ाई है। और जो नेता या अभिनेता हरियाणा के हक़ में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करवाने की आवाज नही उठा रहा( syl नहर निर्माण के बारे में नही कह रहा) सब गद्दार है। जयहिंद ने कहा कि हरियाणा की ढ़ाई करोड़ जनता SYL के पानी का इंतजार कर रही है। किसान खेतीबाड़ी के लिए तो आम जनता पीने के पानी के लिए। हरियाणा में पानी की स्थिति बड़ी भयावह है। खराब पानी पीने की वजह से छोटे बच्चों, महिलों और युवाओं में अनेक तरह की बिमारियां हो रही है।

नवीन जयहिन्द नोटों से लदी ट्रैक्टर ट्रैली पर रोहतक से निकले जींद के लिए

नवीन जयहिन्द नोटों से लदी ट्रैक्टर ट्रैली पर रोहतक से निकले जींद के लिए जयहिंद आज पूछेंगे syl पर केजरीवाल और भगवंत मान से सवाल सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को लागू करने का दे बयान, देंगे 1-1 लाख ईनाम-जयहिंद गणतंत्र को लठतंत्र बनाना चाह रहे है केजरीवाल और भगवंत मान syl पर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय न मान कर सुप्रीम कोर्ट और संविधान का उल्लंघन कर रहे है जयहिन्द सेना प्रमुख नवीन जयहिन्द शनिवार 27 जनवरी को रोहतक से अपने साथियों सहित ट्रैक्टर ट्रैली पर जींद के लिए कूच किया। जयहिंद अपने साथियों सहित रोहतक से चलकर लखनमाजरा,जुलाना होते हुए जींद पहुंचेंगे जहां वे 28 जनवरी को जींद पहुंच मुख्यमंत्री केजरीवाल व भगवंत मान से SYL को लेकर सवाल पूछेंगे। उनकी ये यात्रा सोशल मीडिया और लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुईं है। क्योंकि ट्रैक्टर ट्राली की यात्रा पूरी नोटों से लदी हुई थी और वो syl लिखे मटके, टंकी और सोटे के साथ ट्राली में बैठे हुए थे। जयहिंद से जब इस बारे में सवाल किया तो उन्होने कहा कि जो उन्हे चंदा मिला था वो जनता की लड़ाई के लिए था और आज उसी लडाई के वो जा रहें है। दोनो मुख्यमंत्री सिर्फ बयान देदे कि वे सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करवाएंगे । एक -एक लाख रुपए इनाम में देंगे। जयहिन्द ने कहा की केजरीवाल व भगवंत मान syl पर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय न मान कर सुप्रीम कोर्ट और संविधान का उल्लंघन कर रहे है और गणतंत्र को लठतंत्र बनाना चाह रहे है। मुख्यमंत्री केजरीवाल व भगवंत मान जींद में 28 जनवरी को आएंगे तो SYL मामले पर अपनी स्थिति स्पष्ट करें। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि दोनों मुख्यमंत्री सिर्फ एक बयान दें कि SYL नहर का निर्माण करवाएंगे–हरियाणा की प्यास के 22 में से 17 जिलों में पानी की कमी है। सभी जिलों में लोग जहरीला पानी पी रहे है जिससे उनको अनेको बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है जैसे लोगो के समय से पहले बाल सफेद व गंजे हो जाते है। 80% हरियाणा के गाँवों में भूमिगत जलस्तर (चौवा) एक हजार फ़ीट निचे जा चुका है जिसके कारण किसानों को खेती व आम जनता को पानी की समस्या हो रही है। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि अगर SYL का पानी हरियाणा को मिले तो 40 लाख टन अनाज किसान हर साल उगाकर जनता का पेट भर सकते है। यह राजनीतिक लड़ाई नही बल्कि न्याययिक लड़ाई है। और जो नेता या अभिनेता हरियाणा के हक़ में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करवाने की आवाज नही उठा रहा( syl नहर निर्माण के बारे में नही कह रहा) सब गद्दार है। जयहिंद ने कहा कि हरियाणा की ढ़ाई करोड़ जनता SYL के पानी का इंतजार कर रही है। किसान खेतीबाड़ी के लिए तो आम जनता पीने के पानी के लिए। हरियाणा में पानी की स्थिति बड़ी भयावह है। खराब पानी पीने की वजह से छोटे बच्चों, महिलों और युवाओं में अनेक तरह की बिमारियां हो रही है।

24 घंटो में मुख्यमंत्री केजरीवाल व मान अपनी स्थिति स्पष्ट करे

24 घंटो में मुख्यमंत्री केजरीवाल व मान अपनी स्थिति स्पष्ट करे सिर्फ एक बयान दें की SYL नहर का निर्माण करवाएंगे – हरियाणा की प्यास बुझाएंगे व सुप्रीम कोर्ट का निर्णय मानेंगे हम 1–1 लाख रुपए ईनाम देंगे दोनो मुख्यमंत्रियों को हरियाणा वाले खुद्दार है गद्दार नही दूध या दारू नही अपने हक का पानी मांग रहा है हरियाणा बुधवार को जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद ने SYL के पानी के लिए जींद में प्रेसवर्ता की। प्रेसवार्ता में नवीन जयहिंद ने SYL के मुद्दे पर केजरीवाल सरकार की दोगली राजनीति पर सवाल खड़े करते हुए कहा केजरीवाल व भगवंत मान जींद में 28 जनवरी को आएंगे तो SYL मामले पर अपनी स्थिति स्पष्ट करें। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि दोनों मुख्यमंत्री सिर्फ एक बयान दें कि SYL नहर का निर्माण करवाएंगे–हरियाणा की प्यास बुझाएंगे व सुप्रीम कोर्ट का निर्णय मानेंगे। तो हम दोनों मुख्यमंत्रियों को 1–1 लाख रुपए ईनाम देंगे। हरियाणा के लोग गद्दार नही बल्कि खुद्दार है। किसान आन्दोलन में हरियाणा के लोगों ने पंजाब के किसानों के लिए दूध पिलाया है तो पंजाब अब हरियाणा के किसानों को हक़ का पानी तो दे ही सकता है| वैसे भी पंजाब की जनता हरियाणा को पानी देना चाहती है लेकिन राजनीतिक दल इस पर सिर्फ राजनीति कर रहे है | हरियाणा के किसान दूध या दारू नही पानी मांग रहे है वो भी जो माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश में कहा गया है| बजरंगबली ने कहा या राम जी ने की हरियाणा को पानी नही मिलेगा। SYL का पानी हरियाणा का हक़ है कोई भीख नही। ये कुछ राजनीतिक लोग लोकतंत्र को लठतंत्र बना रहे है और SYL के मुद्दे को वोटतंत्र बना रहे है। जयहिन्द ने कहा कि हरियाणा तो मुख्यमंत्री भगवंत मान की ससुराल है फिर भी यहां के लोगो के साथ इतना भेदभाव कर रहे है। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि हम अकेले 3 मुख्यमंत्रियों(हरियाणा,पंजाब,दिल्ली) से लड़ाई लड़ रहे है। जयहिन्द ने आंकड़े दिखाते हुए कहा कि हरियाणा में 22 में से 17 जिलों में पानी की कमी है जिसमे सबसे ज्यादा पानी की कमी से प्रभावित जिला जींद है। इन सभी जिलों में लोग जहरीला पानी पी रहे है जिससे उनको अनेको बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है जैसे लोगो के समय से पहले बाल सफेद व गंजे हो जाते है। 80% हरियाणा के गाँवों में भूमिगत जलस्तर (चौवा) एक हजार फ़ीट निचे जा चुका है जिसके कारण किसानों को खेती व आम जनता को पानी की समस्या हो रही है। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि अगर SYL का पानी हरियाणा को मिले तो 40 लाख टन अनाज किसान हर साल उगाकर जनता का पेट भर सकते है। यह राजनीतिक लड़ाई नही बल्कि न्याययिक लड़ाई है। और जो नेता या अभिनेता हरियाणा के हक़ में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करवाने की आवाज नही उठा रहा( syl नहर निर्माण के बारे में नही कह रहा) सब गद्दार है। ---बॉक्स--- जयहिंद ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा उन्होंने SYL पानी का धर्मयुद्ध यात्रा भी निकली थीं जोकि महम के ऐतिहासिक चबूतरे से शुरू होकर गांव-गांव होती हुई दिल्ली सुप्रीम कोर्ट के लिए निकली थी जिसमें जयहिंद सुप्रीम कोर्ट के फैसले के सम्मान में व ताकत के लिए गाय का शुद्ध देसी घी, पानी के मटके, व सोटे भी देकर आए थे बॉक्स हरियाणा की महिलाओं ने कारवां चौथ पर माँगा SYL का पानी हरियाणा की महिलाओं ने भी नवीन जयहिंद की SYL पानी का धर्मयुद्ध की मुहिम में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया था । कारवां चौथ पर प्रदेश की महिलाओं ने अपने पतियों से अगले साल SYL के पानी से ही अपना व्रत खोलने का वचन लिया। महिलाओं ने कहा कि अगर अगले साल SYL का पानी नहीं तो वे व्रत भी नहीं करेंगी। सोशल मीडिया पर महिलाओं के समर्थन व अपने पतियों से लिए इस वचन की विडियो भी वायरल हुई थी ।

नेता जी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन का केक काटने से रोका नवीन जयहिन्द को

नेता जी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन का केक काटने से रोका नवीन जयहिन्द को मैं तो धारा 144 का उलंघन भी नही कर रहा था, सिर्फ चार आदमियों के साथ जा रहे थे - जयहिन्द हरियाणा प्रदेश को छोड़ दूं क्या मैं मुख्यमंत्री जी - जयहिन्द जयहिन्द ने पुलिस के सामने सुनाया किस्सा कहा मैं तो मरा हुआ सांप, फिर भी क्यों डरते हो जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद मंगलवार को फिर सरकार के खिलाफ़ जम कर बरसे। 23 जनवरी नेता जी सुभाष चन्द्र बोस के जन्मदिवस को पराक्रम दिवस के रुप में मनाया जाता है। नवीन जयहिंद पिछले 20 सालों से नेता जी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन मना रहे थे और हर साल की तरह इस बार भी नेता जी सुभाष चंद्र बोस की मूर्ती पर पुष्प अर्पित करने और उनके जन्मदिन का केक काटने के लिए निकले तो सैंकड़ों पुलिस कर्मी दल बल के साथ जयहिन्द के टैंट में पहुंच गए और उन्हें टैंट में ही नजरबन्द कर दिया। नवीन जयहिंद कुछ दिन पहले एक बंदर बच्चे को सर्दी से राहत दिलाने के लिए अलाव में सेंक रहे तब उनके पैर पर कोयले गिरने की वजह से जल गए और चल नहीं पा रहे हैं। ऐसे में उनके साथी उन्हें व्हील चेयर में बैठा कर ले जा रहे थे तो पुलिस और प्रशासन ने उन्हें उनके टैंट के बाहर ही रोक दिया। जयहिंद ने रोके जाने पर कहा कि वे कोई विरोध-प्रदर्शन करने नहीं बल्की नेता जी का जन्मदिन मनाने जा रहे है। उन्हें खुशी है कि मुख्यमंत्री भी समारोह कर उनकी जयंती मना रहे है । लेकिन उन्हे नहीं समझ आ रहा कि रोहतक में जब भी मुख्यमंत्री, गृहमंत्री या कोई मंत्री आता है उन्हें नज़रबंद कर दिया जाता है । ऐसे में तो उन्हे हरियाणा में रहने का भी हक नहीं है। जयहिंद ने आगे कहा कि रोहतक में दूसरे दलों के इतने बड़े नेता , विधायक रह रहे है कभी प्रशासन उनकी कोठियों के बाहर नहीं खड़ा होता । पहले ही पुलिस विभाग में पुलिसकर्मियों की कमी है। जितने पुलिस कर्मी उनके टैंट के बाहर उन्हें रोकने के लिए होते हैं उतने ही मुख्यमंत्री की सुरक्षा में लगे रहते है । जयहिंद ने आगे कहा कि इन पुलिस कर्मियों को कानून व्यवस्था में लगाए जिससे जनता की सुरक्षा हो न कि उनके टैंट के बाहर बैठाए।

हरियाणे का नाम हरिराम या हरिहनुमान करे सरकार

हरियाणे का नाम हरिराम या हरिहनुमान करे सरकार भगवान राम ने जनता के लिए 14वर्ष वनवास काटा था, हम राम भक्त 14साल की जेल काटने को तैयार राम जी मंदिर में आगए अब राम को मन में रखना पड़ेगा 5100 दीये जला कर मनाएंगे भगवान राम के आगमन दिवस को - जयहिंद 1 साल पहले रोहतक पीजीआई में चल रही भर्तियों में हरियाणा से बाहर के बच्चो को भर्ती किया जा रहा था। जिसे लेकर विवाद हुआ और नवीन जयहिन्द, सोनू मलिक (मोखरा) नवीन मलिक पर केस हुआ जिसके लिए नवीन जयहिंद सोनू मालिक (मोखरा)10 दिनों तक रोहतक की सुनारियां जेल में भी गए। इसी मामले को लेकर आज सोमवार 22 जनवरी 2024 को नवीन जयहिन्द, सोनू मलिक, नवीन मलिक की रोहतक कोर्ट में पेशी हुई। जिसमे एडवोकेट Adv. विकास लाकड़ा ,Adv. निखिल,Adv. मदन लाल भारतीय उनके साथ रहे। कोर्ट ने अगली तारिख मार्च 2024 को रखी। वही जयहिंद ने हरियाणा कौशल रोजगार निगम(HKRN) के तहत इजरायल में हो रही भर्ती पर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि सरकार चाहे बच्चों को अमेरिका भेजे , इंग्लैंड भेजे, ऑस्ट्रेलिया भेजे लेकिन पहले प्रदेश में 2 लाख खाली पड़े पद तो भरे | फिर चाहे उसके बाद युवाओं को चाँद पर भेज दे उन्हें कोई समस्या नहीं है | जयहिंद ने कहा कि भगवान राम ने 14 साल का वनवास काटा था और जिस तरह से उन पर केसों की झड़ी लगी हुई उन्हें भी 14 साल की जेल काटनी पड़ सकती है | आज भगवान राम का दिन है | 5100 साल पहले भगवान का जन्म हुआ था वे आज 5100 दिए जला कर भगवान राम के आगमन का उत्सव मनाएंगे | भगवानराम सबके है न कि किसी पार्टी, जाति विशेष के | क्योकि भगवान राम एक नीतिवान राजा थे | वही पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए जयहिंद ने कहा सरकार द्वारा एक चौक का नाम भगवान राम के नाम पर रखा गया है, प्रभु राम का नाम इतना छोटा नहीं है कि एक चौक तक सीमित हो जाये | बल्कि उनकी मुख्यमंत्री से अपील है कि हरियाणा का नाम बदल कर हरिराम किया जाए या भगवान राम के सबसे बड़े भक्त हनुमान जी के नाम पर हरीहनुमान किया जाए | साथी ही अपील की कि जिस गौ माता की वजह से विष्णु के अवतार भगवान राम का जन्म हुआ आज वही गौ माता सड़कों पर घूम रही है | सरकार आज गौ माता की तरफ भी जरुर ध्यान दे | वहीँ जयहिंद ने अपील की कि लोग अपने जीवन में भगवन के राम चरित्र को अपने जीवन में अपनाए | जिस तरह से उन्होंने एक पुत्र, एक पति , एक बड़े भाई और एक राजा होने का कर्तव्य पूरी निष्ठा और इमानदारी के निभाया उसी तरह से हम अभी अपने उनकी कुछ नीतियों को जरुर अपनाए|

Find Us on Facebook