Search

Press Note

*नकारा सरकार से लड़ाई के लिए नवीन जयहिन्द ला रहे बेरोजगार रांडे पेंशन कांवड़* , *इस सरकार व खजकुमार को सद्बुद्धि दे भोलेनाथ - जयहिन्द*

चंडीगढ़ । नवीन जयहिन्द सरकार को सद्द्बुद्धि दिलाने व नाकारा सरकार से लड़ने की शक्ति पाने के लिए हरिद्वार से रोहतक बेरोजगार रांडे (पेंशन) कावंड़ ला रहे है। सोमवार 10 जुलाई को सावन मास के पहले सोमवार के दिन नवीन जयहिन्द व अनेक भोले के भक्तों ने हरिद्वार हर की पौड़ी से कांवड़ उठाई और अपनी यात्रा शुरू की। जयहिन्द ने कहा यह कांवड़ यात्रा हरिद्वार से यमुनानगर, पंचकूला, चंडीगढ़, अम्बाला, करुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, सोनीपत व गोहाना होते हुए रोहतक पहुंचेगी, पूरे हरियाणा वासियों व देशवासियों के मंगलमय जीवन के लिए यह कांवड़ यात्रा है। साथ ही जयहिन्द ने लाखों भोले के भक्त जो कांवड़ ला रहे है उनको भी शुभकामनाएं दी और सन्देश देते हुए कहा कि सभी बड़े प्यार-प्रेम व सावधानी पूर्वक कांवड़ लाएं। सरकार व खाजकुमार को सद्बुद्धि दे भोलेनाथ राजकुमार सैनी ने भोले की कांवड़ लाने वाले कांवड़ियों पर बयान दिया था कि कांवड़िए नशेड़ी है, नशे की तस्करी करते है और कांवड़ लाने की जगह मटरगस्ती करते है। इस पर नवीन जयहिन्द ने 9 जुलाई की रात हरिद्वार हर की पौड़ी से लाइव आकर राजकुमार सैनी पर कटाक्ष करते हुए राजकुमार सैनी को खाजकुमार बताया व कहा कि खाजकुमार पहले तो जाटो को, फिर ब्राह्मणों को और अब भोले के भक्त कांवड़ियों को गालियां दे रहे है। जयहिन्द का कहना है कि खाजकुमार आपसी भाईचारा खराब करने की सरकार से सुपारी लेते है और फिर इस तरह से सभी बिरादरी को गालियां देते है। साथ ही जयहिन्द ने सरकार से अपील करते हुए कहा कि कांवड़ियों को इस तरह गई गली देने पर राजकुमार पर एफआईआर होनी चाहिए। खाजकुमार दो आने का भी आदमी नही है तो इस पर सौ रुपये का काला तेल डाल कर क्यों आप अपने सौ रुपये बर्बाद कर रहे है। खाजकुमार इसलिए सभी बिरादरी को गाली देता है ताकि चर्चा में आ सके और इसी तरह की खाज (लड़ाई) करवाने के लिए ये ऐसा बोलता है, लेकिन आज के लोग समझदार हो चुके है की इस खाजकुमार को कुछ कहने की जरूरत नही है। सरकार युवाओं को रोजगार देने की बजाय बना रही रांडा : जयहिंद जयहिन्द ने बताया कि यह कांवड़ यात्रा एक सप्ताह में 600KM तय करेगी और इस कांवड़ यात्रा का मकसद यह है कि जो हरियाणा में जनता परेशान है उनकी समस्याओं का समाधान हो सके। भगवान भोलेनाथ सरकार को सद्बुद्धि दे व हमे इस सरलार से लड़ने की शक्ति दे। उन्होंने कहा कि यह सरकार बेरोजगारों को रोजगार देने की बजाय रांडा बनाना चाह रही है साथ ही जयहिन्द ने कहा कि हमने पहले भी बेरोजगारी व नशे के खिलाफ कावंड़ निकली है। ---परेशान जवानी--- 1. हरियाणा में 10 लाख बेरोजगार युवा लाइन में खड़े है नौकरी लेने के लिये 2. युवाओ को नौकरी नही- नशा फूल मिल रहा है सरकार रोक लगाने में नाकामयाब रही है 3. शराब के ठेके खोलने पर ज़ोर दे स्कूल/कॉलेज बंद हो रहे है रोज़ 4. हरियाणा में बढ़ता क्राईम-घटता रोजगार 5. हर रोज़ महंगाई बढ़ रही है लोगो को काम नही मिल रहा है 6. हरियाणा के दो लाख युवाओ को नौकरी दो 7. CET क्वालिफ़ाई करो ---परेशान बुढापा--- 1. 5 लाख बुढापा पेंशन बनाओ, विकलांग पेंशन,विधवा पेंशन बनाओ 5100 रुपये पेंशन करो 2. BPL कार्ड बनाओ, फैमिली आईडी(PPP) ठीक करो, प्रोपर्टी आईडी का समाधान करो बढ़ती महंगाई ने लोगो की कमर तोड़ रखी है रसोई में राशन नही है

नवीन जयहिंद सरकार की सद्बुद्धि के लिए लाएंगे बेरोजगार रांडा पेंशन कांवड़ , भाईचारा कांवड़ यात्रा के केस पर चेतावनी, पकड़ना है तो अब पकड़े, भागोड़ा बोलने की जरूरत नहीं , शेरदिल हैं सभी, गादड़ बिल्ला नहीं रहते साथ : जयहिंद

पानीपत । नवीन जयहिंद सरकार को सद्द्बुद्धि दिलाने व इस नाकारा सरकार से लड़ने की शक्ति पाने के लिए हरिद्वार से रोहतक बेरोजगर रांडा (पेंशन) कावंड़ यात्रा लेकर आएंगे। रोहतक से चल पानीपत पहुंचे नवीन जयहिंद ने प्रेसवार्ता करके बताया कि यह कांवड़ यात्रा हरिद्वार से यमुनानगर, पंचकूला, चंडीगढ़, अम्बाला, करुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, सोनीपत व गोहाना होते हुए रोहतक पहुंचेगी। साथ ही जयहिन्द ने बताया की पांच साल पहले भाईचारा कांवड़ यात्रा के दौरान जो हम पर केस किया गया था वह बिलकुल फर्जी था, जिसमें जयहिंद और सोनू मालिक(मोखरा) को जमानत मिल चुकी है, लेकिन उसमे दो साथी नवीन मालिक व जोगेंद्र धानक थे, जिनका इस केस से कोई लेना देना नहीं था। फिर भी पानीपत प्रशासन का फोन आया की ऊपर से दबाव है उन्हे पेश करें। तो इसी मामले में जयहिंद नवीन मालिक व जोगेंद्र धानक को पानीपत प्रेसवार्ता में लेकर पहुंचे और प्रशासन से कहा की अगर हमे गिरफ्तार करना है तो कर ले लेकिन बाद में उन्हें भगोड़ा बोलने की कोई जरूरत नहीं है। साथ ही जयहिंद ने कहा की अगर अब नही पकड़ सकते तो हम 13 जुलाई को कांवड़ लेकर यही पानीपत से ही गुजरेंगे तब पकड़ लेना। जयहिंद के साथ सब शेरदिल रहते है कोई गादड–बिल्ला नही रहता। साथ ही जयहिन्द ने लाखों भोले के भक्त जो कांवड़ ला रहे है उनको भी शुभकामनाएं दी और सन्देश देते हुए कहा कि सभी बड़े प्यार-प्रेम व सावधानी पूर्वक कांवड़ लाएं। सरकार द्वारा घोषणा की गई रांडा पेंशन योजना की नवीन जयहिन्द ने निंदा की। साथ ही मुख्यमंत्री की इस योजना पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस तरह की योजना की बजाए युवाओं को रोजगार दिया जाए। ताकि उनके सामने रांडा रहने की नौबत ही ना आए। अगर फिर भी सरकार रांडा पेंशन देना चाहती है तो इसे सरकारी बटेऊ की उपाधि दी जाए। जयहिन्द ने सरकार नसीहत देते हुए कहा है की या तो सरकार अपने किये वादे मुताबिक बेरोजगारों रांडो की शादी करवाये नही तो इन बेरोजगर रांडो की शादी करवाये व रोजगार दे, या उनकी पेंशन 5100 रुपए करे और रांडा पेंशन का नाम बदल कर मान-तान रखा जाए, ओर उपाधि सरकारी बटेऊ की दी जाए। क्योंकि रांडे व्यक्तियों का समाज मे बहुत अहम योगदान होता है। नवीन जयहिन्द ने कहा बेरोजगार रांडो की उम्र 45 से 60 ही क्यों, 35 से 100 साल करो और पैंशन 2750 ना करके 5100 करो। स्कीम का नाम पेंशन नहीं मान-तान स्कीम रखो। साथ ही इन्हें उपाधि सरकारी बटेऊ की देनी चाहिए। नवीन जयहिन्द ने कहा विधायक व सांसद की पेंशन पर 2 लाख या 3 लाख इनकम का दायरा नहीं तो रांडों (बेरोजगारों) पर पाबंदी क्यों लगाई जा रही है। जयहिन्द ने बताया कि यह कांवड़ यात्रा एक सप्ताह में 600 किलोमीटर का सफर तय करेगी और इस कांवड़ यात्रा का मकसद यह है कि जो हरियाणा में जनता परेशान है उनकी समस्याओं का समाधान हो सके। भगवान भोलेनाथ सरकार को सद्बुद्धि दे व हमे इस सरलार से लड़ने की शक्ति दे। यह सरकार बेरोजगारों को रोजगार देने की बजाय रांडा बनाना चाह रही है साथ ही जयहिन्द ने कहा कि हमने पहले भी बेरोजगारी व नशे के खिलाफ कावंड़ निकली है तो इस बार भी हम इन निम्नलिखित मुद्दों को लेकर कावंड़ यात्रा निकलेंगे। ---परेशान जवानी--- 1. हरियाणा में 10 लाख बेरोजगार युवा लाइन में खड़े है नौकरी लेने के लिये 2. युवाओ को नौकरी नही- नशा फूल मिल रहा है सरकार रोक लगाने में नाकामयाब रही है 3. शराब के ठेके खोलने पर ज़ोर दे स्कूल/कॉलेज बंद हो रहे है रोज़ 4. हरियाणा में बढ़ता क्राईम-घटता रोजगार 5. हर रोज़ महंगाई बढ़ रही है लोगो को काम नही मिल रहा है 6. हरियाणा के दो लाख युवाओ को नौकरी दो 7. CET क्वालीफाई करो ---परेशान बुढापा--- 1. 5 लाख बुढापा पेंशन बनाओ, विकलांग पेंशन,विधवा पेंशन बनाओ 5100 रुपये पेंशन करो 2. BPL कार्ड बनाओ, फैमिली आईडी(PPP) ठीक करो, प्रोपर्टी आईडी का समाधान करो बढ़ती महंगाई ने लोगो की कमर तोड़ रखी है रसोई में राशन नही है –––बॉक्स––– जयहिंद ने बताया की पानीपत का जो सैनौली रोड है वह बिलकुल टूटा पड़ा है जिसे लेकर प्रधान राम रत्न शर्मा बहुत बार प्रदर्शन कर चुके है। वह एक बहुत बड़ा रास्ता है जहां से बोले के भक्त कांवड़ लेकर आते है तो इसी मामले पर जयहिंद ने मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर, पानीपत से विधायक प्रमोद विज व वहा से सांसद संजय भाटिया पर कटाक्ष करते हुए कहा की अगर वह रोड जल्द से जल्द कावड़ियों की सुविधा के लिए ठीक करवाया जाए नही तो आपको पाप लगेगा क्योंकि बड़ी मात्रा में भोले के भक्तो का वहां से आना जाना होता है। साथ ही जयहिंद ने इन सभी नेताओ को नसीहत देते हुए कहा की सौ–सौ मीटर भागकर कावड़ के फोटो खिंचवाने से व सिर्फ भोलेनाथ की जय बोलने से कोई फायदा नही होता, अगर मुख्यमंत्री, किसी मंत्री, विधायक, सांसद में हिम्मत है तो हरिद्वार से कावड़ लाकर दिखाए। साथ ही जयहिंद ने कहा की वह जो मुर्दा विपक्ष है उन्हे भी कावड़ लानी चाहिए ताकि भगवान भोलेनाथ उन्हे भी जनता की आवाज उठाने की शक्ति दे।

नवीन जयहिंद के दरबार में पहुंची सरकार व रांडे, मुखौटा पहने सीएम को सुनाई खरी-खोटी जयहिंद के दरबार में रांडे बोले : सीएम साहब पेंशन नहीं पत्नी चाहिए जयहिंद दरबार में मुखौटा धारक सीएम ने बताई मन की बात

रोहतक । नवीन जयहिंद के दरबार में शुक्रवार को सरकार व रांडे पहुंचे। इस दौरान रांडा बने सोनू मलिक मोखरा ने रांडा पेंशन को लेकर मुखौटा धारक सीएम, डिप्टी सीएम व गृह मंत्री से पेंशन की बजाए पत्नी की मांग की। वहीं सभी मुखौटा धारक मंत्री बचकर भागते नजर आए। वहीं नवीन जयहिंद ने भी सभी को आडे हाथ लिया और युवाओं को रोजगार देने की मांग उठाई। साथ ही कहा कि सरकार रांडा पेंशन की बजाए रोजगार दे। बता दें कि सरकार द्वारा अविवाहितों के लिए पेंशन स्कीम शुरू की है। जिसके तहत 45 से 60 वर्ष के अविवाहितों को सरकार द्वारा पेंशन दी जाएगी। जिसका नवीन जयहिंद ने विरोध करते हुए सरकार पर निशाना साथा। साथ ही कहा कि रांडा पेंशन शुरू करके मुख्यमंत्री व गृह मंत्री खुद के लिए यह स्कीम लेकर आए हैं। इस दौरान नवीन जयहिंद ने सीएम, डिप्टी सीएम व गृह मंत्री का मुखौटा पहनने वालों को पहली किस्त के रूप में 5100-5100 रुपए के चेक भी दिए। इस दौरान मुखौटा पहने मुख़्यमंत्री खट्टर, ग्रह मंत्री अनिल विज, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला बुलाये गए, सभी का स्वागत बेरोजगारों की बारात के मुख्य दूल्हे सोनू मालिक (मोखरा) ने किया। साथ ही सोनू मालिक (मोखरा) ने उनसे कहा हम बेरोजगारों को रांडा पेंशन नही, रोजगार चाहिए। क्योंकि हरियाणा में 10 लाख युवा बेरोजगार है और 2 लाख पद खाली पड़े है। जयहिन्द ने सरकार नसीहत देते हुए कहा है की या तो सरकार अपने किये वादे मुताबिक बेरोजगारों रांडो की शादी करवाये नही तो इन बेरोजगर रांडो की शादी करवाये, या उनकी पेंशन 5100 रुपए करे और रांडा पेंशन का नाम बदल कर मान-तान रखा जाए, ओर उपाधि सरकारी बटेऊ की दी जाए। क्योंकि रांडे व्यक्तियों का समाज मे बहुत अहम योगदान होता है। साथ ही जयहिन्द ने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ओर ग्रह मंत्री अनिल विज को 5100 , 5100 के चेक दे कर बेरोजगर युवा रांडा पेंशन की शरुआत की ओर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को ताई इन्द्रो के नाम के 5100 रुपए का चेक दिया सरकार द्वारा घोषणा की गई रांडा पेंशन योजना की नवीन जयहिन्द ने निंदा की। साथ ही मुख्यमंत्री की इस योजना पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस तरह की योजना की बजाए युवाओं को रोजगार दिया जाए। ताकि उनके सामने रांडा रहने की नौबत ही ना आए। अगर फिर भी सरकार रांडा पेंशन देना चाहती है तो इसे सरकारी बटेऊ की उपाधि दी जाए। जयहिंद ने सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि पेंशन धारकों पर आय मापदंड लगाया जा रहा है। 2 या 3 लाख का दायरा तय करके उससे ऊपर जिसक आय होगी, उसकी पेंशन काटी जा रही है। जबकि विधायक व सांसद बिना रोकटोक के एक की बजाय कई पेंशन ले रहे हैं। उनका कोई मापदंड नहीं हैं। जयहिन्द ने कहां की सरकार ने रांडा पेंशन शुरू करके अपनी पीठ थपथपाई है, लेकिन यह सही नहीं है नवीन जयहिंद ने कहा कि प्रदेश में 2 लाख से ज्यादा पद खाली पड़े हैं और 10 लाख युवा बेरोजगार है। लेकिन सरकार इन पदों को नहीं भर रही। जिसके कारण युवा बेरोजगार है। वहीं करीब साढ़े 3 लाख युवा सीईटी क्वालीफाई की मांग कर रहे हैं, लेकिन सरकार ने उनकी तरफ ध्यान नहीं दिया। इनमें से तीन लाख युवा नशेड़ी व 3 हजार गैंगस्टर बन जाएंगे तब जाकर सरकार जागेगी। यह युवा मौका मांग रहे हैं ना कि नौकरी। नवीन जयहिन्द ने कहा बेरोजगार रांडो की उम्र 45 से 60 ही क्यों, 35 से 100 साल करो और पैंशन 2750 ना करके 5100 करो। स्कीम का नाम पेंशन नहीं मान-तान स्कीम रखो। साथ ही इन्हें उपाधि सरकारी बटेऊ की देनी चाहिए। नवीन जयहिन्द ने कहा विधायक व सांसद की पेंशन पर 2 लाख या 3 लाख इनकम का दायरा नहीं तो रांडों (बेरोजगारों) पर पाबंदी क्यों लगाई जा रही है। ---बॉक्स--- जयहिन्द ने एलान करते हुए कहा कि वे सरकार को सद्द्बुद्धि दिलाने के लिए व इस नाकारा सरकार से लड़ने की शक्ति के लिए हरिद्वार से रोहतक कावंड़ यात्रा निकलेंगे। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि हमने पहले भी बेरोजगारी व नशे के खिलाफ कावंड़ निकली है तो इस बार भी हम इन निम्नलिखित मुद्दों को लेकर कावंड़ यात्रा निकलेंगे। ---परेशान जवानी--- बेरोजगर युवा, नौकरी नही- नशा फूल, ठेके खुले-स्कूल बंद, बढ़ता क्राईम-घटता रोजगार, बढ़ती महंगाई-काम नही, 2 लाख नौकरी दोम ---परेशान बुढापा--- बुढापा पेंशन, विकलांग पेंशन, विधवा पेंशन, रांडा पेंशन, BPL कार्ड, फैमिली आईडी(PPP), प्रोपर्टी आईडी, बढ़ती महंगाई, रसोई में राशन नही। ---बॉक्स--- हरियाणा प्रदेश के हर जिले से लिपिक वर्ग (क्लार्क) अपना पय स्केल 35400 की मांग को लेकर रोहतक डीसी आफिस के बाहर धरने पर बैठे थे, जहाँ नवीन जयहिन्द पहुंचे और पूरे तन-मन-धन से उनकी मांगों का समर्थन किया व सोटा भेंट किया। जयहिन्द ने कहा की सरकार को इनकी मांग जल्द से जल्द पूरी करनी चाहिए ताकि ये लोग परेशान न हों और जनता भी परेशान न हो। अगर सरकार इनकी मांगों को जल्द मान लेती है तो अच्छी बात है वरना यह आंदोलन बहुत बड़ा होगा। साथ ही जयहिन्द ने कहा लिपिक वर्ग(क्लर्क) सरकार की रीढ़ की हड्डी होती है और सरकार इन्हें परेशान करने का काम ना करे।

बेरोजगार युवाओं को रोजगार ना देकर रांडा पेंशन देना चाह रही है सरकार -नवीन जयहिन्द रंडा पेंशन देनी ही है सरकार को तो पूरे मान व सम्मान से दे यह मांग है हमारी - नवीन जयहिन्द -सरकार रांडा पेंशन को सरकारी बटेऊ दे उपाधि, आय व उम्र की पाबंदी हटे : जयहिंद

रोहतक। सरकार द्वारा घोषणा की गई रांडा पेंशन योजना की नवीन जयहिंद ने निंदा की। साथ ही मुख्यमंत्री की इस योजना पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस तरह की योजना की बजाए युवाओं को रोजगार दिया जाए। ताकि उनके सामने रांडा रहने की नौबत ही ना आए। अगर फिर भी सरकार रांडा पेंशन देना चाहती है तो इसे सरकारी बटेऊ की उपाधि दी जाए। जयहिंद ने सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि पेंशन धारकों पर आय मापदंड लगाया जा रहा है। 2 या 3 लाख का दायरा तय करके उससे ऊपर जिसक आय होगी, उसकी पेंशन काटी जा रही है। जबकि विधायक व सांसद बिना रोकटोक के एक की बजाय कई पेंशन ले रहे हैं। उनका कोई मापदंड नहीं हैं। जयहिन्द ने कहां की सरकार ने रांडा पेंशन शुरू करके अपनी पीठ थपथपाई है, लेकिन यह सही नहीं है नवीन जयहिंद ने कहा कि प्रदेश में 2 लाख से ज्यादा पद खाली पड़े हैं और 10 लाख युवा बेरोजगार है। लेकिन सरकार इन पदों को नहीं भर रही। जिसके कारण युवा बेरोजगार है। वहीं करीब साढ़े 3 लाख युवा सीईटी क्वालीफाई की मांग कर रहे हैं, लेकिन सरकार ने उनकी तरफ ध्यान नहीं दिया। इनमें से तीन लाख युवा नशेड़ी व 3 हजार गैंगस्टर बन जाएंगे तब जाकर सरकार जागेगी। यह युवा मौका मांग रहे हैं ना कि नौकरी। नवीन जयहिन्द ने मुख्यमंत्री द्वारा किए ट्वीट का जवाब देते हुए कहा बेरोजगार रांडो की उम्र 45 से 60 ही क्यों, 35 से 100 साल करो और पैंशन 2750 ना करके 5100 करो। स्कीम का नाम पेंशन नहीं मान-तान स्कीम रखो। साथ ही इन्हें उपाधि सरकारी बटेऊ की देनी चाहिए। नवीन जयहिन्द ने कहा विधायक व सांसद की पेंशन पर 2 लाख या 3 लाख इनकम का दायरा नहीं तो रांडों (बेरोजगारों) पर पाबंदी क्यों लगाई जा रही है।

कैबिनेट मीटिंग ने दिया जनता को धोखा, नहीं मिली सौगात -कैबिनेट बैठक में नहीं लिया जनहितैषी फैसला : नवीन जयहिंद

रोहतक । नवीन जयहिंद ने कहा कि कैबिनेट मीटिंग ने जनता को धोखा दिया है। जनता को बैठक से उम्मीद थी, लेकिन कोई भी जनहितैषी फैसला नहीं लिया। कैबिनेट बैठक के दौरान जनता की समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया गया। प्रदेश के लाखों लोग परेशान हैं, लेकिन कैबिनेट मीटिंग के फैसलों को देखकर लग रहा है कि सरकार को जनता से कोई सरोकार नहीं है। इससे पहले नवीन जयहिन्द ने कहा भगवान भोलेनाथ व भगवान परशुराम उन्हें स्वस्थ रहे व प्रदेश की जनता को भी खुश रखे व स्वस्थ रखे। कैबिनेट की मीटिंग हुई जिस पर नवीन जयहिन्द ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा व मुख़्यमंत्री ओर उनके कैबिनेट मंत्रियों से अपील करते हुए कहा था कि हरियाणा में जो लोग दुखी है उनमें से लोग मेरे पास अपनी फरियाद लेकर आते है। प्रदेश में बेरोजगार भी परेशान हैं और दो लाख से ज्यादा पद खाली पड़े है‌। जिसके लिए 10 लाख बच्चे लाइनों में खड़े है, उन पदों को भरें। ये जो बेरोजगारों व बिन शादीशुदा बच्चो के लिए पेंशन देने स्कीमें ला रहे है, इस स्कीम को बंद करके पेंशन की जगह इन बेरोजगारों को नौकरियां दें, ताकि इनकी शादी भी हो जाए। सीईटी क्वालीफाई के लिए जो बच्चे धक्के खा रहे है उनका सीईटी क्वालीफाई कर दो। वे साढ़े 3 लाख बच्चे नौकरी नहीं मांग रहे वे सिर्फ यह कह रहे है कि उनका पेपर हो जाए। 2018 से जो ग्रुप-डी की ESP स्पोर्ट्स कोटे की भर्तियां रुकी हुई है उनको जॉइनिंग करवा दें। इसके इलावा बहुत सी ऐसी भर्तियां है जो रुकी हुई है। आपने कहा था कि 2023 में 65 हजार नौकरियां देंगे तो जयहिन्द ने मुख़्यमंत्री से अपील करते हुए कहा कि आप अपनी कैबिनेट की मीटिंग में बेरोजगारी जो कि प्रदेश में बहुत बड़ा मुद्दा है, इस पर कुछ न कुछ जरूर निर्णय लीजिए। क्योंकि बेरोजगारी की वजह से बेरोजगार युवा नशे व क्राइम की ओर जा रहे है। इसके इलावा जो मुख़्यमंत्री पेंशन बनवाने की बात कह रहे है इस पर जयहिन्द ने मुख़्यमंत्री से अपील करते हुए कहा कि जो 60 साल के हो चुके है पहले उन्हें पेंशन दीजिए, और जिन बुजुर्गो, विकलांगों व विधवा महिलाओं की पेंशन काटी गई है उनकी पेंशन चालू करवाओ। ओर साथ ही जो लोग फैमिली आईडी, प्रोपर्टी आईडी में हुई गड़बड़ी की वजह से दफ्तरों के चक्कर काट रहे है उनकी समस्याओं का समाधान कीजिये।

ब्राह्मणों को गर्दन बचाने के लिए फरसा उठाना पड़ेगा - जयहिन्द ब्राह्मण संसद में दहाड़े जयहिंद, समाज के ठेकेदारों को सुनाई खरी-खोटी - ब्राह्मण समाज बोदा नहीं नेता बोदे हैं, जो आवाज नहीं उठा रहे, लेकिन वे चुप नहीं रहेंगे : जयहिंद -ऑडिटोरियम से निकलकर सड़क पर लड़नी होगी लड़ाई, तभी सरकार मानेगी -ऐसे ही गाली सुनते रहे तो कश्मीर की तरह केरल तक भागते रहेंगे और समूंद्र में डूबना पड़ेगा : नवीन

पंचकूला में आयोजित ब्राह्मण संसद में नवीन जयहिंद ने कहा कि केवल बोलना नहीं काम भी करना चाहिए। आधे तो कांग्रेसी हो गए और आधे बीजेपी के। जब समाज की बात आती है तो इनमें से कोई भी नहीं बोलता। कटाक्ष करते हुए कहा कि म्हारे बड़े-बड़े नेताओं के कुर्ते खींच लिए और धक्के मारकर स्टेजों से नीचे उतार दिया, लेकिन कोई नहीं बोला। यहां तक कि हमारी जमीन पर कब्जा कर लिया 14 साल तक कोई नहीं बोला। समाज के ठेकेदार जाकर अपने बच्चों की नौकरी मांगते रहे। नवीन जयहिंद ने कहा कि जब उसने खुद फर्सा उठाया तो लोगों ने कहा कि यह सभ्य समाज के काम नहीं है। क्या भगवान परशुराम सभ्य नहीं थे। जब फर्से से गर्दन उतारने की बात कही जाती है तो कोई नहीं बोलता क्योंकि वह उनकी पार्टी का है। जिसके लिए समाज पहले है वह बड़ी मुश्किल है। समाज बोदा नहीं है, नेता बोदे हैं इस समाज के। ब्राह्मणों को गाली देने वालों पर कोई नहीं बोलता जयहिंद ने कहा कि लोग ब्राह्मणों को गाली देते हैं तो बोलने वाला कौन होगा। एक बागड़ बिल्ला ब्राह्मणों का डीएनए बता रहा था, केस मेरे (नवीन जयहिंद) ऊपर लगे हुए हैं, तो बोलूंगा। उन्होंने कहा कि ब्राह्मण संसद करने वाले साथी बधाई के पात्र हैं। लेकिन जब तक सड़क पर नहीं उतरेंगे तो सरकार नहीं मानती। लठ लेकर सड़क पर उतरना पड़ेगा। जेएनयू में ब्राह्मणों के खिलाफ नारे लगे, तब भी हमने ही आवाज उठाई। ब्राह्मणों की जमीन पर कब्जा किया हुआ था। उस मामले में भी सरकार ने तीन केस किए हुए हैं। समाज की लड़ाई लड़ने वालों के साथ उन्होंने कहा कि वे किसी भी पार्टी में नहीं है। जो भी समाज के लिए लड़ाई लड़ेगा, उसके साथ खड़े हैं। लेकिन बोलना पड़ेगा, कोई भी नहीं बोलता। कैथल में दो बागड़ बिल्ली सरकार की सय पर ब्राह्मणों के विरोध में बोले। उन पर एफआइआर होनी चाहिए। जब तक गाली सुने जाएंगे तो जैसे कश्मीर से भागए हैं, वैसे ही केरल तक भागते रहना। आखिर में समूंद्र आएगा, जहां डूबना होगा। मान, सम्मान व स्वाभिमान से बड़ी कोई चीज नहीं हैं। जयहिंद ने कहा कि कई एमपी व एमएलए बना रखे हैं और पढ़ा लिखे व कड़े लिखे हुए हैं। समाज के लिए कुछ भी करने वाले वे बधाई का पात्र हैं, लेकिन कुछ नेता हैं, जो समाज के नाम पर कुछ भी नहीं करते और ठेकेदार बने रहते हैं।

नवीन जयहिंद के नेतृत्व में खिलाड़ियों का प्रदेश भाजपा कार्यालय पर दंगल -15 दिन में मांग पूरी नहीं हुई तो मुख्यमंत्री आवास पर करेंगे दंगल : नवीन जयहिंद - 4/2018 से रुकी ग्रुप-डी ESP स्पोर्ट्स कोटे की भर्ती पूरी करवाने की मांग -नवीन जयहिंद ने सरकार को लगाई फटकार, सीएम को सुनाई खरी-खोटी

रोहतक । शनिवार को प्रदेशभर के खिलाड़ि लड़के व लड़कियों ने ग्रुप-डी ESP की रुकी भर्ती को लेकर नवीन जयहिंद के नेतृत्व में रोहतक के मानसरोवर पार्क से भाजपा राज्यकार्यालय पर मांगों को लेकर दंगल किया। साथ ही सरकार को 15 दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि 4/2018 से रुकी ग्रुप-डी ESP स्पोर्ट्स कोटे की भर्ती बहाल की जाए। अन्यथा 15 दिन बाद मुख्यमंत्री आवास पर दंगल करेंगे। इससे पहले नवीन जयहिंद ने सरकार को खिलाड़ियों की मांगों को लेकर चेतावनी दी थी कि उनकी जायज मांगों को पूरा किया जाए। लेकिन सीएम के आश्वासन के बाद भी खिलाड़ियों को ज्वाइनिंग नहीं मिली। इसके बाद जयहिन्द व सभी खिलाड़ियों ने वहां मौजूद एसडीएम को सोटे के साथ ज्ञापन सौंपा। ग्रुप-डी ESP की भर्ती न किये जाने के विरोध में आज सभी नवीन जयहिन्द के साथ मानसरोवर पार्क में एकत्रित हुए और खिलाड़ियों की नौकरी के नवीन जयहिन्द ने खिलाड़ियों के साथ मानसरोवर पार्क से लेकर भजपा राज्यकार्यालय तक रोष मार्च निकाला व रुकी हुई ग्रुप डी ESP स्पोर्ट्स कोटे की भर्ती को जल्द से जल्द भरने के नारे लगाए। इस बीच खिलाड़ी अपने खेल के समान के साथ जैसे बैट-बॉल, बॉक्सिंग ग्लब्स, फुटबॉल व अन्य खेल के समान के साथ पहुँचे व अपना खेल नाकारा सरकार को खिलाड़ी लड़के व लड़कियों ने भाजपा राज्यकार्यालय के बाहर दंगल करके, कब्बड्डी खेल कर, बॉक्सिंग दिखाते हुए प्रदर्शन किया। 2018 से रुकी ग्रुप डी ESP स्पोर्ट्स कोटे की भर्ती को लेकर नवीन जयहिन्द के नेतृत्व में खिलाड़ी मानसरोवर पार्क में एकत्रित हुए। इस दौरान नवीन जयहिन्द ने खिलाड़ियों के बात चीत की ओर खिलाड़ियों की मांग को जायज बताते हुए खिलाड़ियों की ज्वाइनिंग सहित अन्य मांगों को लेकर सरकार पर जमकर फटकार लगाई और सीएम को भी खरी-खोटी सुनाई। 2018 से रुकी स्पोर्ट्स कोटे की भर्ती के कारण हजारों खिलाड़ी परेशान है। मुख्यमंत्री भी भिवानी जिले के गांव बापोड़ा में खिलाड़ियों से इस भर्ती को पूरा करवाने का आश्वासन दे चुके है, लेकिन आज तक ज्वाइनिंग नहीं हुई। जिस पर नवीन जयहिंद ने कहा कि ये सभी खिलाड़ी नेशनल लेवल पर गोल्ड मैडल लाने वाले खिलाड़ी है। हमे लानत है ऐसी सरकार पर जो इनको पानी पिलाने की नौकरी देने का काम कर रही है। ऊपर से मुख्यमंत्री की जुबान का भी कोई धन नहीं, जो आश्वासन के बाद भी खिलाड़ियों को नौकरी नहीं मिली। खिलाड़ी लड़के व लड़कियों ने अपनी व्यथा बताई। जयहिन्द ने मुख़्यमंत्री का वीडियो दिखाते हुए कहा कि जब सीएम कह चुके है कि भर्ती होंगी तो अब तक क्यों नहीं हुई? क्या मुख़्यमंत्री की बात प्रदेश में कोई नहीं मानता? जयहिन्द ने मोके पर खड़े अफसर को वीडियो दिखाया जिसमे मुख़्यमंत्री जी कह रहे है कि वे जवाहर यादव जी को भर्ती करवाने की बोल देंगे। और गजब की बात यह है की जवाहर यादव जी मुख़्यमंत्री आफिस से एक बार हटकर दोबारा आफिस में आ चुके है लेकिन अब तक मुख़्यमंत्री के उस ब्यान पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। जयहिन्द ने कहा कि जवाहर जी को शर्म आनी चाहिए कि मुख़्यमंत्री के कहने के बाद भी अब तक भर्ती नही की गई। खिलाड़ियों की मांगे इस प्रकार है- (1) 4/2018 ग्रुप-डी खेल-कोटा भर्ती पूरी करो। (2) 600+ पद खाली है हमे जोईनिंग दो। (3) 4 साल से भटक रहे खिलाड़ियों को जोईनिंग दे सरकार। (4) सरकार की गलती खिलाड़ियों पर थोपना बंद करो,उनका हक दो। खिलाड़ियों ने बताया 2019 में 1518 बच्चे खेल कोटे से लगे थे, जिसमे नकली सर्टिफिकेट से 637 बच्चे लगे थे। जिनको माननीय उच्च न्यायालय की LPA no. 1332 डबल बेंच के आदेशानुसार उन्हें निकाल दिया गया था। उनकी जगह असली सर्टिफिकेट वाले बच्चो का रिजल्ट निकालकर 2,3,4,5 व 21 मार्च 2022 को एचएसएससी द्वारा डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन की गई थी। जिसकी वैधता 31-8-2023 तक थी, पर एचएसएससी द्वारा सीएस को वैधता बढ़ाने का पत्र लिखा गया। इसके बाद सीएस ने दिनांक 23-1-2023 को एचएसएससी को पत्र लिखा के ख़िलाड़ितों की ज्वाइनिंग करवानी चाहिए। एचएसएससी द्वारा 27-1-2023 को सीएस को पत्र भेजा कि हमे कैटगरी अनुसार पोस्ट व विभाग के नाम एवं वैधता बढ़कर भेजे। लेकिन सीएस ने अभी तक कोई लेटर एचएसएससी को दोबारा नही भेजा। खिलाड़ियों के डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होने के बाद भी इनकी ज्वाइनिंग नही हुई है। जिसे लेकर ये खिलाड़ी पिछले दो सालों से लगातार मुख़्यमंत्री, मंत्री व अधिकारियों के दफ्तरों पर चक्कर लगा रहे है, लेकिन अब तक कोई सुनवाई नही हो रही।

खिलाड़ियों को लेकर सरकार को नवीन जयहिंद की फटकार, 1 जुलाई को करेंगे दंगल -सरकार पर लानत जो नेशनल प्लेयर को पानी पिलाने की भी नहीं दे पा रही नौकरी : जयहिंद -सरकार खिलाड़ियों की मांगों को करे पूरा, अन्यथा होगा आंदोलन, खिलाड़ी भी हुए लामबंद

रोहतक । खिलाड़ियों की ज्वाइनिंग सहित अन्य मांगों को लेकर नवीन जयहिंद ने सरकार को जमकर फटकार लगाई और सीएम को भी खरी-खोटी सुनाई। 2018 से रुकी ग्रुप डी ESP स्पोर्ट्स कोटे की भर्ती को लेकर खिलाड़ी नवीन जयहिंद से मिले। इस दौरान खिलाड़ियों के साथ नवीन जयहिंद ने पत्रकार वार्ता करते हुए शनिवार को रोहतक के मानसरोवर पार्क में एकत्रित होकर दंगल करने की चेतावनी भी दी।  2018 से रुकी स्पोर्ट्स कोटे की भर्ती के कारण हजारों खिलाड़ी परेशान है। मुख्यमंत्री भी भिवानी जिले के गांव बापोड़ा में खिलाड़ियों से इस भर्ती को पूरा करवाने का आश्वासन दे चुके है, लेकिन आज तक ज्वाइनिंग नहीं हुई। जिस पर नवीन जयहिंद ने कहा कि ये सभी खिलाड़ी नेशनल लेवल पर गोल्ड मैडल लाने वाले खिलाड़ी है। हमे लानत है ऐसी सरकार पर जो इनको पानी पिलाने की नौकरी देने का काम कर रही है। ऊपर से मुख्यमंत्री की जुबान का भी कोई धन नहीं, जो आश्वासन  के बाद भी खिलाड़ियों को नौकरी नहीं मिली।  नवीन जयहिन्द ने खिलाड़ी लड़के व लड़कियों ने अपनी व्यथा बताई। जयहिन्द ने मुख़्यमंत्री का वीडियो दिखाते हुए कहा कि जब सीएम कह चुके है कि भर्ती होंगी तो अब तक क्यों नहीं हुई? क्या मुख़्यमंत्री की बात प्रदेश में कोई नहीं मानता? खिलाड़ियों ने बताया कि हम हार कर नवीन जयहिन्द के पास फरियाद लेकर पहुंचे है और जयहिन्द ने ऐलान करते हुए कहा कि ग्रुप-डी ESP की भर्ती न किये जाने के विरोध में शनिवार 1 जुलाई, सुबह 11 बजे रोहतक के मानसरोवर पार्क में एकत्रित होंगे और खिलाड़ियों की नौकरी के लिए दंगल करवाएंगे।  जयहिन्द ने एक वीडियो दिखाया जिसमे मुख़्यमंत्री जी कह रहे है कि वे जवाहर यादव जी को भर्ती करवाने की बोल देंगे। और गजब की बात यह है की जवाहर यादव जी मुख़्यमंत्री आफिस  से एक बार हटकर दोबारा आफिस में आ चुके है लेकिन अब तक मुख़्यमंत्री के उस ब्यान पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। जयहिन्द ने कहा कि जवाहर जी को शर्म आनी चाहिए कि मुख़्यमंत्री के कहने के बाद भी अब तक भर्ती नही की गई। खिलाड़ियों की मांगे इस प्रकार है- (1)  4/2018 ग्रुप-डी खेल-कोटा भर्ती पूरी करो। (2)  600+ पद खाली है हमे जोईनिंग दो। (3)  4 साल से भटक रहे खिलाड़ियों को जोईनिंग दे सरकार। (4)  सरकार की गलती खिलाड़ियों पर थोपना बंद करो,उनका हक दो।  खिलाड़ियों ने बताया 2019 में 1518 बच्चे खेल कोटे से लगे थे, जिसमे नकली सर्टिफिकेट से 637 बच्चे लगे थे। जिनको माननीय उच्च न्यायालय की LPA no. 1332 डबल बेंच के आदेशानुसार उन्हें निकाल दिया गया था। उनकी जगह असली सर्टिफिकेट वाले बच्चो का रिजल्ट निकालकर  2,3,4,5 व 21 मार्च 2022 को एचएसएससी द्वारा डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन की गई थी। जिसकी वैधता 31-8-2023 तक थी, पर एचएसएससी द्वारा सीएस को वैधता बढ़ाने का पत्र लिखा गया। इसके बाद सीएस ने दिनांक 23-1-2023 को एचएसएससी को पत्र लिखा के ख़िलाड़ितों की ज्वाइनिंग करवानी चाहिए। एचएसएससी द्वारा 27-1-2023 को सीएस को पत्र भेजा कि हमे कैटगरी अनुसार पोस्ट व विभाग के नाम एवं वैधता बढ़कर भेजे। लेकिन सीएस ने अभी तक कोई लेटर एचएसएससी को दोबारा नही भेजा। खिलाड़ियों के डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होने के बाद भी इनकी ज्वाइनिंग नही हुई है। जिसे लेकर ये खिलाड़ी पिछले दो सालों से लगातार मुख़्यमंत्री, मंत्री व अधिकारियों के दफ्तरों पर चक्कर लगा रहे है, लेकिन अब तक कोई सुनवाई नही हो रही। ---बॉक्स---  खिलाड़ियों ने बताया कि कैश अवार्ड के लिए हमसे फार्म तो हर साल भरवा लिए जाते है लेकिन आज तक हमे वह अवार्ड नही मिला। जयहिन्द ने कैश अवार्ड को कंस अवार्ड बताते हुए कहा कि इस सरकार ने बहुत से अवार्ड चला रहे है जिसमे कोचों के लिए भी अवार्ड है लेकिन आज किसी को कुछ नही मिला। ---बॉक्स---  जयहिन्द ने बताया कि आज के समय मे प्रदेश में नशा इतना ज्यादा हो चुका है जिसकी कोई हद नही है, और इस समय मे ये खिलाड़ी समाज के लिए  प्रेरणा का स्त्रोत है, कि नशे को छोड़कर हमे खेल पर ध्यान देना चाहिए जिससे हमारा शरीर व आस-पास का वातावरण ठीक रहे। यह सरकार युवाओ को बेरोजगार रखकर नशे व क्राइम की ओर लेजा रही है। ताकि सभी गुंडे-बदमाश बन जाएं और सभी जेले भर जाए।

खट्‌टर साहब का कमाल, बेटे की उम्र 44 साल माँ की 29 सालः जयहिन्द कहाँ है मुख्यमंत्री कह रहे है घर घर जाकर समस्याओं का कर रहे है सरकार लोग तो सालो साल चक्कर काट रहे है तब भीं नहीं हो रहा समाधान नवीन जयहिंद ने सरकार को ललकारा, बाले एक सप्ताह में घर जाकर समस्याएं नहीं की दूर तो, फिर खुद आएंगे -जयहिंद ने किए खुलासे, सरकार के दस्तावेजों में मिली गड़बड़ी से 7 लाख लोग परेशान - दस्तावेजों की गड़बड़ी से धक्के खा रही पीड़ितों ने जयहिंद से लगाई गुहार - कोई 17 साल से राशन कार्ड के लिए तो कोई पेंशन के लिए खा रह

रोहतक । हरियाणा की खट्‌टर सरकार का नया कमाल देखने को मिला है। जिसे नवीन जयहिंद ने उजागर करते हुए कहा कि दस्तावेजों में गड़बड़ी से 7 लाख से अधिक लोग दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन सरकार उनकी तरफ ध्यान नहीं दे रही। जय हिन्द सेना के इंक़लाबी कमांडर एडवोकेट मदन लाल ने गांव छारा की समस्या उठाई। जिसमें छारा निवासी माँ की उम्र 29 साल व बेटे की उम्र 44 साल दर्शाई गई थी। वहीं बाला देवी की उम्र 64 साल होने के बाद भी पेंशन नहीं बनी। वहीं राजबाला पिछले 3 साल से विधवा पेंशन के लिए चक्कर काट रही है। दीपक और उसकी पत्नी भारती दोनों दिव्यांग हैं, लेकिन दीपक अपनी पत्नी व बेटे की पेंशन बनवाने के लिए अधिकारियों के धक्के खा रहे हैं। मंगलवार को दस्तावेजों की गड़बड़ी से पीड़ित नवीन जयहिंद से मिलने पहुंचे। लोगों की समस्याएं सुनकर नवीन जयहिंद ने सरकार को ललकारते हुए चेतावनी दी कि इन सभी लोगों की समस्याओं का घर-घर जाकर एक सप्ताह में समाधान किया जाए। नहीं तो पीड़ित कहीं नहीं जाएंगे, खुद नवीन जयहिंद ही आएंगे। जयहिंद ने कहा कि अब वे सरकार व प्रशासन से लड़ाई लड़ने को तैयार हैं। फैमिली आईडी, राशन कार्ड , प्रोपेर्टी आईडी, आधार कार्ड, वोटर कार्ड में हुई गड़बड़ी की वजह से प्रदेश के विकलंगो, बुजुर्गो, विधवा महिलाओं व आम जन को कितनी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। जयहिन्द भी इस मुद्दे को लेकर काफी बार प्रदर्शन कर चुके है और कई बार जिनके कागजो में गड़बड़ी हुई है, उन्हें प्रशासन के सामने भी ले जा चुके है। जो करीब 1 साल हो चुका है की इन लोगो के कागजो में हुई गड़बड़ी ठीक नहीं हो रही है। मंगलवार 27 जून को नवीन जयहिन्द ने प्रेसवार्ता कर बड़ा खुलासा किया। जयहिन्द ने बताया कि हमारे मुख़्यमंत्री साहब ने एक बुजुर्ग महिला को जवान करके कमाल कर दिया है। बुजुर्ग महिला सन्तोष को कागजो में 29 साल की व उनके बेटे को 44 साल का दिखाया गया है। गौर करने योग्य बात यह है कि संतोष का बेटा अनिल गांव छारा से पंचायत का मेंबर भी है। अपनी उम्र ठीक करवाने के लिए पिछले ढाई साल से बुजुर्ग महिला सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रही है लेकिन उसकी कहीं कोई सुनवाई नही हो रही। हार कर वे जयहिन्द के पास फरियाद लेकर पहुंचे। जयहिन्द ने सरकार व प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि उनके पास एक सप्ताह का समय है अगर इन जल्द-से -जल्द इनकी समस्या का समाधान नही किया गया तो जयहिन्द सेना अपने तरीके से इन लोगो की समस्याओं का समाधान करवाएगी। जयहिन्द ने बुजुर्ग महिला सन्तोष व उनके बेटे अनिल के कागज दिखाते हुए कहा कि माता जी को तो आधार कार्ड, वोटर कार्ड में 29 साल का व उनके बेटे को 44 साल का दिख दिया। यहां तक कि पंचायत भी यह कहती है की इनकी उम्र को लेकर कागजो में गड़बड़ी है इसे ठीक करना होगा। लेकिन अधिकारी पंचायत की लिखी हुई बात भी नही मान रहे। जयहिन्द ने मुख़्यमंत्री को कोसते हुए कहा कि स्वर्ग में बैठे मुख़्यमंत्री मानोहरलाल के मां-बाप सोचते होंगे कि हमारा बेटा कितना निकम्मा है, कैसे-कैसे काम कर रहा है। ......बॉक्स..... कहां है मुख्यमंत्री जो कह रहे थे कि घर घर जाकर अधिकारी समस्याओं का समाधान करेंगे जयहिन्द ने बताया कि ये तो सिर्फ एक गांव से समस्या लेकर छः लोग आए है तो आप अंदाजा लगा लीजिए कि हरियाणा में सात हजार गांव है। अगर एक गांव से सौ लोग भी गिने तो लाखो ऐसे लोग है जो अपनी इन समस्याओं को लेकर सरकारी दफ़्तों के धक्के खा रहे है ---बॉक्स--- पहलवान जिस मुद्दे को लेकर आंदोलन कर रहे थे उस पर योगेश्वर दत्त ने लाइव आकर एक बयान दिया जिसमें वे बजरंग पूनिया, सभी माफी मांग रहे है कि जो भी हुआ वह गलत हुआ है और आगे से हम इस तरह की गलती नही करेंगें। यह सुनने के बाद नवीन जयहिन्द ने कहा कि बहुत अच्छा हुआ कि उन्होंने अपनी गलती मानी और इस लड़ाई को खत्म किया। लेकिन आगे आकर सरकार और सिस्टम से लड़ना पड़ा तो हम उनके साथ है। साथ ही जयहिन्द ने पहलवानों के इस आंदोलन को यहां तक लाने वाले सभी कोचों व खिलाड़ियों को धन्यवाद दिया और जनता से भी अपील करते हुए कहा कि खिलाड़ी हमारे देश का नाम रोशन करते है, देश के लिए मैडल लाते है अगर उनसे कुछ गलती होती है तो जनता को भी उन्हें माफी देनी चाहिए।

आत्मनिर्भरता व लीडरशिप गुण वाले तैयार होंगे जयहिंद सैनिक, जन समस्याओं का करवाएंगे समाधान -जयहिंद सेना का पंचकूला के मोरनी में लगेगा तीन दिवसीय कैंप 

नवीन जयहिंद प्रदेश भर से 1857 क्रांतिकारी योद्धा लीडरों की तरह जय हिंद सैनिक तैयार करेंगे। जिन्हें जयहिंद सेना में शामिल किया जाएगा। ये जयहिंद सैनिक प्रदेश भर में लोगों के बीच रहकर उनकी समस्याएं सुनेंगे और समस्याओं को अधिकारियों व सरकार तक ले जाकर समाधान भी करवाएंगे। अब लोगों के लिए एक नवीन जयहिंद समस्याएं उठाते हैं इसके बाद जय हिंद सैनिक भी नवीन जयहिंद की तरह ही जन समस्याओं को उठाएंगे। जनता की समस्याओं को लेकर सरकार को भी आए ना दिखाया जाएगा। इसके  लिए पंचकूला मोरनी में तीन दिवसीय कैंप का आयोजन भी  किया जा रहा है। सोशल लीडरशिप ट्रेनिंग कैंप मोरनी की पहाड़ी(पंचकूला) में आयोजित होगा। जिसमें प्रदेश भर से युवा हिस्सा लेंगे कैंप का उद्देश्य युवाओं को जागरूक करना और आत्मनिर्भर बनाना है। आने वाले चुनावों में यही लीडर्स जनता के बीच जाकर उन्हें उनके अधिकारों के लिए जागरूक करने का काम करेंगे। कैंप के लिए अब तक  200 से अधिक युवा रजिस्ट्रेशन करा चुके है। कैंप में युवाओ के  रहने खाने की भी उचित व्यवस्था की गयी है । नवीन जयहिंद ने बताया की जयहिंद सेना 20 सालो से समाज सेवा के कार्य में सक्रिय है। जयहिंद का कहना है की अकेले वो कितने लोगों की समस्या का समाधान कर सकते है। क्योंकि प्रदेश के  अधिकतर लोग इस सरकार से परेशान है। इसलिए वो चाहते है की आम जनता के बीच से ही कुछ ऐसे लोगों को चुनकर उन्हें निपूर्ण बनाया जाए जो जनता के बीच जाकर उनकी समस्याएं सुने और उन्हें जनप्रतिनिधियों तक पहुंचकर उनका  समाधान करवाएं। जयहिंद ने बताया की मोरनी में ये कैंप 23 जून से 25 जून तक आयोजित होगा। इस कैंप में जो भी साथी आना चाहता है वो 7027-811-811 पर Call/SMS/Wtsp करें, ताकि उनका रजिस्ट्रेशन किया जा सके। इस कैंप के दौरान मोटिवेशनल स्पीच के साथ-साथ युवाओं को सोशल लीडरशिप व आत्मरक्षा के गुण भी सिखाये जाएंगे ताकि जयहिंद सेना हर प्रकार से सक्षम बन सके।    ----बॉक्स-----  मुख्यमंत्री के गाँव के किसानो ने भी नवीन जयहिंद से माँगा समर्थन  मुख्यमंत्री के गांव निदाना के लोग डीसी ऑफिस से अपनी समस्याओं को लेकर पहुंचे काफी देर डीसी ऑफिस के बाहर बैठने के बाद भी प्रशासन द्वारा उनकी कोई सुनवाई नहीं की गई जिसके बाद गांव वासियों ने नवीन जयहिंद को सूचना दी कि प्रशासन कोई सुनवाई नहीं कर रहा है। सूचना मिलते ही नवीन जयहिंद लघु सचिवालय पहुंचे और गांव वालों की समस्याएं सुनी। नवीन जयहिंद वहां पहुंचे तो डीसी भी किसानों की समस्या सुनने के लिए पहुंच गए। नवीन जयहिंद ने जिला उपायुक्त अजय कुमार को किसानों की समस्याएं बताई। जिसके बाद जिला उपायुक्त ने किसानों को आश्वासन दिया कि जल्द से जल्द उनकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

Find Us on Facebook