Search

Press Note

नवीन जयहिंद ने मोटे नेताओं को लिया आड़े हाथ, ढोंगी व भोगी बने योगी, ढोलक नेता कर रहे गुमराह : नवीन जयहिंद

रोहतक । हरियाणा के रोहतक से अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर नवीन जयहिंद ने फेसबुक पर लाइव आकर एक दिन के लिए योग कर रहे मोटे व भारी पेट वाले नेताओं पर निशाना साधा। नवीन जयहिंद ने कहा कि ढोंगी व भोगी नेता अब योगी बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि ढोलक जैसे नेता एक दिन योग करके लोगों को गुमराह कर रहे हैं। उन्हें योग की जानकारी तक पूरी नहीं हैं। भेड़ चाल चल रही हैं। असली ज्ञान की बातों को दबा दिया जाता है। अमरावती यूनिवर्सिटी (महाराष्ट्र) से योग में पीजी करने वाले नवीन जयहिंद ने योग व भोग में अंतर बताया। उन्होंने कहा कि जिस तरह से आज के समय मे योग का प्रचार-प्रसार चल रहा है। खासकर जो हमारे ढोंगी नेता है, जिनके 50-50 किलो के पेट निकले हुए है, ये लोगो को गुमराह कर रहे है। उन्होंने कहा कि सिर्फ हाथों को ऊपर-नीचे करके फोटो उतरवाने से योग नहीं होता। योग करने के लिए सबसे पहले यम, नियम को अपने जीवन के लागू करना होता है। आसन व प्राणायाम योग का सिर्फ हिस्सा योग नहीं उन्होंने कहा कि आसन और प्राणायाम योग का सिर्फ एक हिस्सा है, लेकिन योग नहीं। यह तो शरीर का संतुलन बनाने के लिए है। योग की शुरुआत यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्यार, धारणा, ध्यान, समाधि से होती है। यम के पांच हिस्से होते हैं, जो सत्य, अहिंसा, स्ते, ब्रह्मचार्य, अपिग्रह होते है। नियम के पांच पार्ट होते हैं, जो सोच, सन्तोष, तप, स्वाध्याय, ईश्वर प्राणिता। याम के पांच पार्ट 1. सत्य- यम के पार्ट सत्य में बताया गया है कि सत्य बोलिए लेकिन आज जो नेता ढोलक जैसे बड़े-बड़े पेट लेकर घूमते है ये कौनसा सत्य बोलते है? ये सिर्फ सुबह से शाम सिर्फ झूठ बोलते है। 2. अहिंसा - यम के पार्ट अहिंसा में बताया गया है कि अहिंसा मन, कर्म, वचन तीनो तरह की होती है, मार-पीट वाली नही। आप किसी का भी मन से , कर्म से, वचनो से नुकसान न करें। 3. स्ते - स्ते का मतलब है कि आप किसी भी तरह से किसी के हक को मत छीनो, किसी की चोरी मत करो। 4. ब्रह्मचार्य - ब्रह्मचार्य का नियम जो भी योग करते है पुरुष व महिला दोनों के लिए लागू होता है और यह बेहद महत्वपूर्ण नियम है। आप देखिए जो आज ढोंगी योगी बनते है वे लंगोटी के कितने कच्चे होते है और इससे वे लोग ब्रह्मचार्य का कितना पालन करते है। 5. अपिग्रह - अपिग्रह का मतलब यह होता है कि आपके पास उतनी है धन-संपत्ति होनी चाहिए जितनी आपको जरूरत है।मतलब इतना होना चाहिए कि अपनी भी रोटी हो जाये और घर आया मेहमान भी भूखा न जाए। लेकिन आप देखिए कि आज लोग कबीर के ज्ञान को छोड़कर कुबेर के धन के पीछे भाग रहे है। नियम के पांच पार्ट - 1. सोच - सोच का मलतब है कि अपने शरीर का शोधन करना। यानी अपने शरीर व आस -पास के वातावरण को साफ रखना। 2. सन्तोष - इसका मतलब है कि आपके पास जो भी है आप उसमे सन्तुष्ट रहे, न कि दूसरों की चीजों पर अपनी नित खराब रखे। 3. तप - इसका मतलब कर्म व मेहनत करने है कि आप ऐसे कर्म व मेहनत करो जिससे आपको व दुसरो को उस कर्म से संतुष्टि मिले न कि उस कर्म से कोई दूसरा परेशान हो। 4. स्वाध्याय - इसका मतलब होता है कि इर्शा, द्वेष छोड़ कर खुद का अध्ययन करना। लेकिन आज लोग खुद के इलावा दूसरों के बारे में ज्यादा अध्ययन करते है कि ये ऐसा है वो वैसा है। 5. ईश्वर प्राणिता - इसका मतलब है कि अपने ईश्वर, इष्ट देवता, धर्म में ध्यान लगाना व उनके प्रति समर्पित होना।

अमित शाह की रैली को लेकर जयहिन्द को किया गया हॉउस अरेस्ट सरकार चाहे सौ केस कर ले, लेकिन जनता के लिए सवाल ऐसे ही उठाते रहेंगे - जयहिन्द यह जनता की रैली है या पुलिस की रैली अमित शाह जितनी बार हरियाणा दौरे पर आएंगे, हम उनसे जनता के सवाल पूछेगे - जयहिन्द

रोहतक - जैसा कि आप सभी जानते है कि दो दिन पहले नवीन जयहिन्द ने भाजपा सांसद रामचंद्र पर देवी-देवताओं का अपमान करने को लेकर रोहतक के आर्यनगर थाने में एफआईआर करने की अप्लीकेशन जमा करवाई थी। साथ ही जयहिन्द ने कहा था कि देश के गृहमंत्री अमित शाह सिरसा रैली करने आ रहे है, तो हम वहां जाएंगे और उनसे पांच सवालों के जवाब मांगेंगे। जिसके बाद 17 जून की रात से ही सीआईए स्टॉफ ने जयहिन्द पर नजर रखना शुरू कर दिया और 18 जून रविवार रैली वाले दिन सैकड़ो पुलिसकर्मी व सीआईए स्टॉफ सुबह 5 बजे जयहिन्द के बाग में पहुंचे और बाग को छावनी बना दिया व उन्हें बाग में ही हॉउस अरेस्ट कर लिया। पुलिस अधिकारियो ने पूछने पर बताया कि हमे जयहिन्द को हॉउस अरेस्ट करने के लिए ऊपर से आदेश मिले हैं और जब तक दोबारा से ऊपर से आदेश नही आ जाते तब तक जयहिन्द हाउस अरेस्ट ही रहेंगे। जयहिन्द इन निम्नलिखित सवालों के जवाब अमित शाह से मांग रहे थे - 1 - भाजपा सांसद रामचंद्र द्वारा देवी- देवताओ का अपमान करने पर कार्यवाही क्यों नहीं हुई? 2 - खाली पड़े दो लाख पदों पर भर्ती कब करोगे व 20 लाख बेरोजगारों को रोजगार कब दोगे? 3 - सीईटी क़्वालीफाई, एचटेट आजीवन क्यों नहीं हो रहा व BPL कार्ड काट दिए, पेशन काट दी, फैमिली आईडी में गड़बड़ी क्यों? 4 - बेरोजगारी की वजह से अपराध व नशा बढ़ रहा है क्या सरकार कमीशन लेकर नशा बिकवा रही हैं 5 - हरियाणा पुलिस कर्मचारियों की तख्वाह बढ़ाने, 8 घंटे की ड्यूटी व 30 हजार खाली पदों पर भर्ती कब होगी? जयहिन्द ने बताया कि अमित शाह से सवाल पूछने को लेकर मुझ पर पहले ही दो केस चल रहे है एक ओर हो जाएगा तो कोई बात नही,लेकिन हम जनता की आवाज ऐसे ही उठाते रहेंगे। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि अमित शाह जी सिरसा(हरियाणा) आ रहे है तो वे बेरोजगारी को लेकर, सीईटी क़वालीफाई करने, एचटेट को आजीवन करने व हरियाणा पुलिस की तनख्वाह बढ़ाने जैसी कुछ अच्छी घोषणा कर के जाए। क्योंकि दो लाख से ज्यादा पद खाली पड़े है, लेकिन सरकार भर्तियां नही निकाल रही, जिसकी वजह से आज के समय मे हरियाणा प्रदेश बेरोजगारी में प्रथम स्थान पर है और बेरोजगारी की वजह से ही हरियाणा में नशे व क्राईम को बढ़ावा मिल रहा है व हमारे प्रदेश के युवाओ का भविष्य बर्बाद हो रहा है। बताया जा रहा है कि पूरे हरियाणा में पुलिस के लगभग तीस हजार पद खाली पड़े है, लेकिन इसके बावजूद तीस हजार पुलिस कर्मियों को सिरसा रैली में बुलाया गया है जयहिन्द का कहना है की अगर तीस हजार पुलिसकर्मी बिना वर्दी के रैली में जाएंगे तो आम जन की रैली में क्या जरूरत ? साथ ही जयहिन्द ने कहा कि यह पुलिस की रैली है या किस की है? खबरों के अनुसार रोहतक व अन्य 15 जिलों के एसपी, डीएसपी, एसएचओ तक को सिरसा रैली में अमित शाह की सुरक्षा में लगाया गया है, जबकि जिलों में कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ी हुई है। जिससे साफ पता चलता है कि हरियाणा में कानून व्यवस्था का किस कदर जनाजा निकला हुआ है और यह हरियाणा पुलिस में भर्तियों की व स्टॉफ की कमी को दर्शाता है की एक जिले से पुलिस कर्मचारी 100 - 200 कि.मी दूर दूसरे जिलों में ड्यूटी देने जा रहा हैं, जिसकी वजह से जो पुलिसकर्मचारी है वे अपने तय समय से ज्यादा समय तक ड्यूटी कर रहे है, लेकिन सरकार ने जो पुलिसकर्मियों की तनख्वाह बढ़ाने की घोषणा की थी उसकी तरफ कोई ध्यान नही दिया जा रहा।

देवी-देवताओं का अपमान करने वालो पर FIR करो - नवीन जयहिन्द

रोहतक । जैसा कि आप सभी जाने है कि बीती 16 जून को नवीन जयहिन्द ने भाजपा राज्यसभा सांसद रामचंद्र के द्वारा देवी-देवताओं पर दिए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर प्रेसवार्ता की थी और सांसद को चेतावनी दी थी कि वे आज 17 जून तक अपने दिए बयान पर माफी मांगे नही तो हम सांसद के खिलाफ एफआईआर करवाएंगे, पर सांसद ने अब तक माफी नही मांगी। इसी मामले को लेकर आज 17 जून नवीन जयहिन्द अन्य साथियों के साथ रोहतक के आर्य नगर थाने में एफआईआर करवाने पहुंचे। मौके पर एसएचओ मौजूद न होने की वजह से वहां मौजूद एएसआई को नवीन जयहिन्द ने एप्लिकेशन सौंपी और सांसद रामचंद्र पर जल्द से जल्द एफआईआर करने व सख्त से सख्त कार्यवाही करने की मांग की। एएसआई राजेन्द्र ने कहा कि जो एप्लिकेशन नवीन जयहिन्द ने सौंपी है उस जो भी कार्यवाही बनेगी हम करेंगे। जयहिन्द ने बताया बीजेपी सांसद रामचंद्र जी में राक्षस की आत्मा आ चुकी है, तो उन्हें अपना नाम बदलकर राक्षस चंद्र रख लेना चाहिए, क्योंकि उनका कहना है कि हरिद्वार जाने की जरूरत नहीं है और न ही भगवान भोलेनाथ को, भगवान राम को, मां वैष्णो देवी को, बनभौरी माता को, बेरी वाली माता को, गुडगांवा वाली माता को चोहराहे वाली माता को मानने की जरूरत है। साथ ही जयहिन्द ने बताया कि बेरी वाली माता की, गुडगांवा वाली माता की, बनभौरी वाली माता की लाखों लोग पूजा करते है और करोड़ो लोग हरिद्वार जाते है। और सांसद के इस तरह के बयान से लाखों लोगों की आस्था व भावनाओ को आघात लगा है। जयहिन्द ने बताया कि उन्होंने भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष व मुख़्यमंत्री कार्यालय में भी बात की के उनका सांसद गलत बोल रहे है लेकिन वे बोले कि इसमें हम कुछ नही कर सकते सांसद हमने नही ऊपर वालो ने बनाया हुआ है। इस पर जयहिन्द ने बताया कि हमे इस बात से कोई मतलब नही है कि उन्हें सांसद किसने बनाया है किस ने नही। बात भावनाओ की है जिस तरह से उन्होंने लाखो भक्तों की भावनाओ को ठेस पहुंचाई है इसके लिए उन पर एफआईआर होनी चाहिए। ---बॉक्स--- जयहिन्द ने बताया की जब हम थाने में पहुंचे तो वहां एसएचओ साहब मौजूद नही थे पता लगा कि उनकी डयूटी सिरसा में होने वाली अमित शाह की रैली में लगी हुई है। कल रविवार 18 जून को गृहमंत्री अमित शाह सिरसा आ रहे है तो हम वहां जाएंगे और उनके सामने यह बात रखेंगे की सांसद रामचंद्र को देवी देवताओं के लिए इस तरह के आपत्तिजनक बयान देने का हक किसने दिया और उन पर अब तक कोई कार्यवाही क्यों नही हुई? और साथ ही हम उनसे हरियाणा में बढ़ रही बेरोजगारी, क्राईम, कानून व्यवस्था व अन्य समस्याओं को लेकर भी सवाल पूछेंगे। बताया जा रहा है कि पूरे हरियाणा में पुलिस के लगभग तीस हजार पद खाली पड़े है, लेकिन इसके बावजूद तीस हजार पुलिस कर्मियों को सिरसा रैली में बुलाया गया है जयहिन्द का कहना है की इसके मुताबिक अगर तीस हजार पुलिसकर्मी बिना वर्दी के रैली में जाएंगे तो आम जन की रैली में क्या जरूरत? साथ कि जयहिन्द ने कहा कि यह पुलिस की रैली है या किस की है? रोहतक के एसएचओ, एसपी, डीएसपी तक को सिरसा बुलाया गया है, इससे साफ पता चलता है कि हरियाणा में कानून व्यवस्था का किस कदर जनाजा निकला हुआ है और यह हरियाणा पुलिस में भर्तियों की व स्टॉफ की कमी को दर्शाता है।

बीजेपी सांसद रामचंद्र में आ चुकी है राक्षस की आत्मा - जयहिन्द

रोहतक । बीते शुक्रवार नवीन जयहिन्द ने भाजपा सांसद रामचंद्र जांगड़ा द्वारा देवी-देवताओं के लिए दिये गए आपत्तिजनक बयान को लेकर रोहतक में प्रेसवार्ता की। जयहिन्द ने बताया बीजेपी सांसद रामचंद्र जी में राक्षस की आत्मा आ चुकी है, तो उन्हें अपना नाम बदलकर राक्षस चंद्र रख लेना चाहिए, क्योंकि उनका कहना है कि हरिद्वार जाने की जरूरत नहीं है और न ही भगवान भोलेनाथ को, भगवान राम को, मां वैष्णो देवी को, बनभौरी माता को, बेरी वाली माता को, गुडगांवा वाली माता को चोहराहे वाली माता को मानने की जरूरत है। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि सांसद के इस बयान से हमारी आस्था व भावनाओ को आघात लगा है, हम उन्हें कल शनिवार 17 जून सुबह 11 बजे तक का समय देते है कि वे देवी देवताओं के लिए दिये गए आपत्तिजनक बयान को लेकर माफी मांगे वरना हम सांसद रामचंद्र के खिलाफ एफआईआर करवाएंगे और साथ ही रविवार 18 जून को गृहमंत्री अमित शाह भी सिरसा आ रहे है तो उनके सामने भी हम यह बात रखेंगे की सांसद रामचंद्र को देवी देवताओं के लिए इस तरह के आपत्तिजनक बयान देने का हक किसने दिया और उन पर अब तक कोई कार्यवाही क्यों नही हुई? जयहिन्द ने बताया कि बेरी वाली माता की, गुडगांवा वाली माता की, बनभौरी वाली माता की लाखों लोग पूजा करते है और करोड़ो लोग हरिद्वार जाते है। साथ ही जयहिन्द ने सबूत दिखाते हुए कहा कि मुख़्यमंत्री भी मन्दिरो में माता की पूजा करते है। एक तरफ तो सांसद रामचन्द्र कहते है कि देवी-देवताओं व भगवान की मूर्तियों की पूजा करने की कोई जरूरत नही है, लेकिन दूसरी और वे मंदिर में माता का आशीर्वाद लेते हुए, एक संत महात्मा का आशीर्वाद लेते हुए फोटो खिंचवाते है। इससे उनके दोगले चरित्र का पता चलता है। जयहिन्द ने बताया कि उन्होंने भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष व मुख़्यमंत्री कार्यालय में भी बात की के उनका सांसद गलत बोल रहे है लेकिन वे बोले कि इसमें हम कुछ नही कर सकते सांसद हमने नही ऊपर वालो ने बनाया हुआ है। जयहिन्द ने बताया कि आप अगर हिंदू धर्म में है तो आप सबकी अपनी-अपनी मान्यताएं हैं, लेकिन आप किसी की भावनाओं के ऊपर कैसे चोट मार सकते हो? वे यह बताएं कि अगर मुस्लिम धर्म में है या नही अगर है तो ठीक है,मुस्लिम धर्म मे अपनी मान्यता है। अगर आप ईसाई धर्म मे है है तो उनकी अलग मान्यता है, सिख धर्म की अपनी अलग मान्यता है। अगर आप नास्तिक भी है तो कोई बात नही लेकिन आप किस आधार पर देवी-देवताओं का अपमान कर रहे है? ---बॉक्स--- एक पत्रकार के सवाल का जवाब देते हुए जयहिन्द ने बताया कि हम खिलाड़ियों के मामले को लेकर पहले भी कह चुके है की इस आंदोलन को न तो जातीय रंग दिया जाए और न ही क्षेत्रीय रंग देना चाहिए। खिलाड़ियों व सांसद दोनों का नार्को टेस्ट होना चाहिए और सुप्रीम कोर्ट के सिटींग जज की अध्यक्षता में जांच करवानी चाहिए, ताकि सब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए। जो खिलाड़ी देश के लिए मेडल लेकर आए है हमे लगता है उनके इस आंदोलन को लंबा खींचना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।

अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर अमित पंघाल के कोच अनिल के बेटे अंगद के अंतिम क्रिया में शामिल हुए नवीन जयहिंद  प्रशासन से की अपील नहर की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाये  माता- पिता से की अपील - काल बन रही नहर से अपने बच्चो को रखे दूर  अंगद की मृत्यु पर जयहिंद ने जताया दुःख , परिवार को दी सांत्वना    प्रशासन से की अपील नहर पर सुरक्षा के प्रबंध करे पुख्ता 

रोहतक । मंगलवार 6 जून सुबह 10 बजे अंतर्राष्ट्रीय बॉक्सर अमित पंघाल के कोच अनिल का 18  वर्षीय बेटा  अंगद झज्जर रोड पर जवाहर लाल नेहरू कैनाल  नहर में डूब गया जिसका शव 3 दिन बाद 8 जून को रात 9 बजे नहर से बरामद किया गया , इकलौता  बेटा  खो जाने से परिवार को आघात पहुंचा है।  नवीन जयहिन्द के मृतक के पिता अनिल से गहन सम्बन्ध है जिस कारण वो भी अंगद के अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचे और परिवार को सांत्वना दी।  साथ ही जयहिंद ने इस घटना पर दुख प्रकट करते हुए प्रशासन से अपील की है की जैसा उन्हें दोस्त के परिवार के साथ हुआ है ऐसा किसी अन्य परिवार के साथ ना हो उसके लिए वह प्रशासन से अपील करते है की नहर पर बच्चो को नहाने से रोका जाये व् नहर के आस पास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये जाए।   जयहिन्द ने बताया की कोच अनिल उनके 20 साल पुराने साथी है, यूनिवर्सिटी के समय में वो साथ पढ़ते थे। अंगद उनका एकमात्र लड़का था। ये समय परिवार के लिए बहुत पीड़ादायी है और वो भगवान् से ये प्रार्थना करते है की अनिल के परिवार को ये दुःख सहने की क्षमता प्रदान करे साथ ही नवीन जयहिंद ने सभी माता पिता से ये अपील की है की माता पिता अपने बच्चो को काल बन रही नहर से दूर रखे।

राजनेताओं द्वारा की गई समस्याओं के कारण हो रहा सैनिकों का बलिदान - नवीन जयहिन्द

भिवानी । भिवानी जिले के गांव लालावास निवासी 33 वर्षीय नरेंद्र कुमार गत दिवस मणिपुर में भारत माँ की रक्षा करते हुए उपद्रवियों से लड़ते हुए शहीद हो गाए। मंगलवार 6 जून को नवीन जयहिन्द शहीद नरेंद्र कुमार के परिवार को सान्त्वना देने उनके गांव लालावास पहुंचे। वहां वे शहीद नरेंद्र कुमार के पिता किरोड़ीमल जी से भी मिले जो कि पेशे से मिस्त्री है। शहीद नरेंद्र कुमार ने 2013 में बीएसएफ बटालियन नंबर 122 शिमला में भर्ती हुए थे। उनके परिवार में माता-पिता व 2 भाई 1 बहन थी। साल 2015 में उनकी शादी हुई, जिससे उनका एक 7 वर्षीय लड़का सिद्धार्थ है व उनकी पत्नी वर्तमान में 4 माह की गर्भवती है। आप को बता दें कि शहीद नरेंद्र कुमार साल 2019 से मणिपुर में ही तैनात थे। जयहिन्द ने बताया कि पूरा देश शहीदों की बदौलत चैन से सोता है। शहीद नरेंद्र कुमार की शहादत उनके परिवार के लिए सम्मान की बात है। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि कुछ भृष्ट राजनेताओं द्वारा की गई समस्याओं के कारण हमारे सैनिक शहीद होते है। लेकिन मणिपुर में जिस तरह से शहीद नरेंद्र ने अपनी वीरता का परिचय देते हुए भारत माँ की रक्षा करते हुए उपद्रवियों से लौहा लिया, उससे भारतीय सैनिक की वीरता एवं देश के प्रति प्रेम की भावना झलकती है।

अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर अमित पंघाल के कोच अनिल के बेटे के डूबने पर जयहिंद ने जताया दुःख , परिवार को सांत्वना देने घटनास्थल पर पहुंचे।   डीसी व प्रशासन से की अपील नहर पर सुरक्षा के प्रबंध करे पुख्ता 

रोहतक । मंगलवार 6 जून सुबह 10 बजे अंतर्राष्ट्रीय बॉक्सर अमित पंघाल के कोच अनिल का 15  वर्षीय बेटा  अंगद झज्जर रोड पर जवाहर लाल नेहरू कैनाल  नहर में डूब गया लेकिन सायं 5 बजे तक भी उसका कुछ पता नहीं चला जिससे परिवार को आघात पहुंचा है।  नवीन जयहिन्द अनिल से गहन सम्बन्ध है जिस कारन वो भी परिवार को सांत्वना देने के लिए घटना स्थल पर पहुंचे और परिवार को सांत्वना दी।  साथ ही जयहिंद ने इस घटना पर दुख प्रकट कियाहै  जयहिन्द ने बताया की कोच अनिल उनके 20 साल पुराने साथी है, यूनिवर्सिटी के समय में वो साथ पड़ते थे। अंगद उनका एकमात्र लड़का था। बताया जा रहा है की अंगद के अलावा  दो ओर लड़के उसी नहर में डूबे है लेकिन अभी तक उनका भी कुछ पता नहीं चल पाया है । घटना की सुचना मिलते ही पुलिस प्रशासन व गोताखोरों की टीम मौके पर पहुंची और अपनी कार्यवाही शुरू कर दी लेकिन अभी तक  अंगद का कोई सुराग नहीं मिला है । जयहिन्द ने डीसी व प्रशासन से अपील करते हुए कहा की कार्यवाही को तेज करके जल्द से जल्द अंगद को खोजा जाए और नहर पर सुरक्षा के प्रबंध बढ़ाए जाए ताकि बच्चे इस तरह से नहरों में न नहा पाए। साथ ही जयहिन्द ने जनता से भी अपील करते हुए कहा की अपने बच्चो को इस तरह से नहरों पर नहाने के लिए न भेंजे। ये समय  परिवार पर आफत की तरह टूटा है जयहिंद ने कहा की हम पीड़ित परिवार के साथ हर मुश्किल घडी में  खड़े है और भगवान् से प्राथना करते है की जल्द अंगद का पता चल सके।

कबीर के ज्ञान को छोड़कर, कुबेर के पैसों के पीछे भाग रहे है लोग - नवीन जयहिन्द

रोहतक । ज्येष्ठ माह की शुक्लपक्ष पूर्णिमा 4 जून रविवार को रोहतक के मोखरा गांव में संत कबीरदास जी की जयंती मनाई गई और भंडारे का आयोजन भी किया गया। जिसमे नवीन जयहिन्द पहुंचे, संत कबीरदास जी का आशीर्वाद लिया और प्रसाद ग्रहण किया। इसके बाद महम हल्के से पूर्व विधायक बाली पहलवान भी वहां पहुंचे, उनसे मुलाकात हुई बात हुई। जयहिन्द ने इतने मान-सम्मान देने के लिए उनका धन्यवाद किया। जयहिन्द ने संत कबीरदास जी की जयंती के अवसर पर लोगो से अपील की के उनको संत कबीरदास जी के ज्ञान की ओर ध्यान करना चाहिए न कि कुबेर के पैसों के पीछे भागना चाहिए। साथ ही जयहिन्द ने बताया कि कबीरदास जी न सिर्फ एक संत थे बल्कि वे एक विचारक और समाज सुधारक भी थे। उन्होंने अपने पूरे जीवन में समाज की बुराइयों को दूर करने के लिए कई दोहे और कविताओं की रचना की। कबीरदास जी हिंदी साहित्य के ऐसे कवि थे, जिन्होंने समाज में फैले आडंबरों को अपनी लेखनी के जरिए उस पर कुठाराघात किया था। जयहिन्द ने बताया संत कबीरदास जी ने आजीवन समाज में फैली बुराइयों और अंधविश्वास की निंदा करते रहे। उन्होंने अपने दोहों के माध्यम से जीवन जीने की कई सीख दी हैं। आज भी लोग इनके दोहे गुनगुनाते हैं। जयहिन्द ने सभी युवाओ से भी अपील करते हुए कहा कि उन्हें संत कबीरदास जी जरूर पढ़नी चाहिए ताकि उनको कबीर जी के बारे में जानकारी हो ओर वे उनके विचारों को अपने जीवन मे अपनाएं।

बेवजह पेड़ पौधों की की जा रही है हत्याएं - जयहिन्द सरकार के पास पैसा ज्यादा या भ्र्ष्टाचार - जयहिन्द

रोहतक । बीते शनिवार नवीन जयहिन्द दादा झुपडा मन्दिर समिति की ओर से गांव मोखरा में आयोजित विशाल भण्डारे में पहुंचे। दादा झुपडा का आशीर्वाद लिया और प्रसाद ग्रहण किया। जिसके बाद नवीन वापिस रोहतक आ रहे थे तो उन्होंने देखा कि गांव बहु अकबरपुर के बाई पास पर बुलडोजर द्वारा साफ-सुथरे पेड़-पौधों को उखाड़ा जा रहा था। जयहिन्द ने बुलडोजर चालक से पूछा लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नही मिला। इसके बाद जयहिन्द ने भ्र्ष्टाचार की आशंका लगने पर रोहतक डीसी को फोन मिलाया ओर 112 पर काल करके सूचना दी। जिसके बाद वहां वन विभाग अधिकारी, NHAI के अधिकारी व पुलिस पहुंची। जयहिन्द के सवाल का जवाब देते हुए NHAI के अधिकारी ने बताया कि यह पौधे ज्यादा बड़े होने पर जहर फैलाते है इसलिए इनको उखाड़ा जा रहा है ओर यह हिसार तक के पौधों को उखाड़ने का ठेका मिला हुआ है। इस जयहिन्द ने सवाल करते हुए कहा कि जब ये पौधे जहर फैलाते है तो इन्हें लगाया ही क्यों? इसके बाद NHAI अधिकारी ने बताया कि हमे तो जैसे आदेश मिलते है हम वैसे ही काम करते है इससे ज्यादा उनके पास कोई जानकारी नही थी। वन विभाग के अधिकारी ने भी बताया की ऐसी कोई बात नही है कि ये पौधे जहर फैलाते है। जयहिन्द ने कहा कि अगर सरकार के पास इतने ज्यादा पैसे है जो बेवजह साफ-सुथरे पौधों को कटवा कर नए लगवा रही है तो प्रदेश के बुजुर्गो, विकलंगो ओर विधवा महिलाओं को पेंशन देने में सरकार को क्या समस्या है। जयहिन्द ने भारत के सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से अपील करते हुए कहा कि बेवजह साफ-सुथरे पेड़ -पौधों को न उखाड़ा जाए। और अगर सरकार के पास इतने ज्यादा पैसे है तो टोल-टैक्स को कम करे सरकार जिससे रोजाना सफर करने वाले लोगो को राहत मिले।

जयहिन्द पर अमित शाह का रास्ता रोकने का आरोप, पुलिस नही दे रही गवाही अमित के रास्ते मे सांड डालने का आरोप

रोहतक । तकरीबन 6 साल पहले हरियाणा दौरे पर आए देश के गृह मंत्री अमित शाह जी से नवीन जयहिन्द ने हरियाणा की समस्याओं जैसे किसानों के मुआवजे, बेरोजगारी, नशा व कानून व्यवस्था सम्बंधित कुछ सवाल किए थे। तो इसी को लेकर जयहिन्द व उनके साथियों पर काले झंडे दिखाने, रास्ता रोकने व मरा हुआ सांड फेंकने जैसे केस लगा दिए। जिसे लेकर शुक्रवार 2 जून 2023 को नवीन जयहिन्द रोहतक कोर्ट में पेश हुए, जिसमे 20 पुलिसकर्मी गवाह है लेकिन कोई गवाही देने नही पहुंचा। जयहिन्द के साथ पंडित ओमनारायण, शोएब आलम, अनूप संधू, संदीप, प्रिया शर्मा, रीना, कृष्णा राठी, सुमित हिंदुस्तानी, दिनेश, जगबीर कादयान व एडवोकेट मदन लाल भारतीय, एडवोकेट सुमित सिवाच, एडवोकेट गौरव भारती सहित अन्य एडवोकेट उपस्थित रहे। कोर्ट ने अगली सुनवाई जुलाई 2023 तय की। जयहिन्द ने बताया कि पता नही क्या कारण है कि पुलिस मेरे केस में गवाही देने नही आ रही, इसके पीछे हमे यह मंशा लगती है कि मानो सरकार नही चाहती के जयहिन्द के केस में पुलिस की गवाही हो और जयहिन्द ऐसे ही कोर्ट के चक्कर लगाता रहे। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि खुद पुलिसकर्मी यह कह रहे है कि सरकार के लोगो के आदेश है कि गवाही नही देनी चाहे केस 10 साल चलो या 20 साल। साथ ही जयहिन्द ने बताया जनता की आवाज उठाने के लिए मुझ पर चाहे सौ केस लग जाए, हमे कोई परवाह नही। हमने कोई पाप नही किया जनता के सवाल पूछकर। जयहिन्द ने बताया कि बीते एक महीने में अकेले रोहतक की हमारी पाँच बार कोर्ट में पेशी हुई है, क्या हरियाणा में ओर कोई नेता नही है क्या? हमें न्याय प्रकिया पर भरोसा है साथ ही जयहिन्द ने बताया कि माननीय कोर्ट का जो भी फैसला होगा वह हमें मान्य होगा।

Find Us on Facebook