Search

Press Note

मेरा पार्टी और पत्नी से तलाक हो चुका है उनके साथ मेरा नाम न जोड़े- जयहिंद

मेरा पार्टी और पत्नी से तलाक हो चुका है उनके साथ मेरा नाम न जोड़े- जयहिंद मार्च 2020 से मेरा पार्टी और पत्नी से कोई संबंध नहीं -जयहिंद भूल गया पूर्व सबकुछ याद नहीं अब कुछ जयहिन्द पूर्व पति, पूर्व पत्नी, पूर्व पार्टी, पूर्व अध्यक्ष ना लिखें कोई जयहिंद ने साथ ही स्वाति से भी अपील की कि वे अपने ट्विटर अकाउंट से "जयहिन्द" हटा दे। कुछ लोगों को कन्फ्यूजन हो रहा है। हालांकि जयहिन्द पर मेरा कोई पेटेंट नहीं है जयहिंद ने स्वाति मालीवाल को राज्यसभा सांसद बनने पर बधाई देते हुए कहा की उन्होंने बतौर दिल्ली महिला आयोग अध्यक्ष बहुत अच्छा काम किया। साथ ही उनकी टीम ने भी बहुत मेहनत की । इसमें कोई शक नहीं की वे ईमानदार है और इसके योग्य भी है । आगे के भविष्य के लिए उनको और उनकी टीम को शुभकामनाए उन्होने कहा कि अगर ऐसे पूर्व अध्यक्ष, पूर्व पति लिखेंगे तो 20 पूर्व लिखने पड़ेंगे । पूर्व छात्र नेता , पूर्व महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी छात्र नेता, पूर्व कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय नेता, पूर्व अमरावती विश्वविद्यालय नेता, पूर्व खिलाड़ी, पूर्व अन्ना आन्दोलन कोर कमेटी सदस्य सहित तमाम पूर्व लगाएं

SYL पानी का धर्मयुद्ध यात्रा को दिल्ली पुलिस ने टिकरी बॉडर पर रोका

SYL पानी का धर्मयुद्ध यात्रा को दिल्ली पुलिस ने टिकरी बॉडर पर रोका *मुख्यमंत्री केजरीवाल व भगवंत मान को 1-1 लाख रुपए का ईनाम देंगे जयहिन्द* जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद महम चौबीसी के ऐतिहासिक चबुतरे से अपने चार साथियो के साथ SYL पानी का धर्मयुद्ध यात्रा की शुरुआत की और बुधवार को यह यात्रा सांपला, बहादुरगढ़ से होते हुई सुप्रीम कोर्ट को गाय व भैंस का देसी घी गिफ्ट करने जा रही यात्रा को टिकरी बोर्डर पर दिल्ली पुलिस के द्वारा रोक लिया गया । जयहिन्द जैसे-जैसे आगे बढे उनके साथ सैकड़ो लोग यात्रा में शामिल होने लगे व हर गांव में उन्हें लोगो का प्यार व समर्थन मिला। साथ ही गांव के लोगो ने यात्रा में देसी घी भी भेंट किया। यात्रा महम के चबूतरे से शुरू होकर गांव खरखड़ा, मदीना, बहु अकबरपुर, गद्दी खेड़ी होते हुए रोहतक पहुंची थी और आगे दिल्ली सुप्रीम कोर्ट तक का सफर यहीं रोहतक से कल शुरू किया | साथ ही माननीय कोर्ट से अपील करेंगे कि वे SYL नहर पर कोर्ट के निर्णय को लागू करवाया जाए। जयहिन्द ने 7027-822-822 नंबर जारी करते हुए बताया कि जो भी साथी यात्रा से जुड़ना चाहता है वह इस नंबर पर मिस्ड करे, उनका यात्रा में स्वागत है। जयहिंद ने कहा कि महम से लेकर सांपला, बहादुरगढ़ के लोग अब उनके पास पानी की समस्याएं लेकर पहुंचे | दुसरे दिन इस यात्रा में प्रदेश भर से लोग इनकी इस यात्रा को समर्थन करने पहुँच रहे है और तन-मन-धन से उनका सहयोग कर रहे है | जयहिन्द ने घोषणा करते हुए कहा कि हम मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल व भगवंत मान को 1-1 लाख रुपये का ईनाम देंगे अगर वे यह बयान दे कि SYL नहर का निर्माण व सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू होगा। और उनकी पार्टी के जो छोटे नेता है अगर वे कहते है तो उनके लिए 11 हजार का ईनाम। SYL के पानी को लेकर हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्रियों व कैबिनेट मंत्री की मीटिंग हुई थी। जिसमे भगवंत मान जी ने साफ इंकार कर दिया कि उनके पास हरियाणा को पानी देने के लिए पानी नही है। जबकि गौर करने योग्य बात यह है कि पंजाब से पाकिस्तान पानी जा रहा है तो हरियाणा क्यों नही आ रहा? जबकि हरियाणा पंजाब का छोटा भाई कहा जाता है। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि पंजाब की जनता तो चाहती है कि हरियाणा को पानी मिले लेकिन पंजाब की राजनीतिक पार्टियां व राजनेता नही चाहते कि हरियाणा को पानी मिले। जयहिन्द का कहना है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर साहब को हरियाणावासियो के लिए SYL नहर पर सुनवाई के समय सुप्रीम कोर्ट में खड़े रहना चाहिए। ताकि निर्णय जल्द लागू हो सके। अब यह राजनीतिक लड़ाई नही बल्कि न्याययिक लड़ाई है। और जो नेता या अभिनेता हरियाणा के हक़ में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करवाने की आवाज नही उठा रहा( syl नहर निर्माण के बारे में नही कह रहा) सब गद्दार है। .......इसी बॉक्स में...... जयहिन्द ने कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं के माध्यम से बताया कि SYL नहर का निर्माण क्यों जरूरी है। 1. हरियाणा के लोग बड़े भाई पंजाब से भीख नहीं अपना हक़ मांग रहे है। 2. पंजाब से पानी पकिस्तान जा रहा है लेकिन हरियाणा को नहीं दिया जा रहा ऐसा क्यों.? 3. हरियाणा के 22 जिलों में से 17 जिलो में जहरीला पानी पी रहे है हरियाणा के लोग। 4. पानी की वजह से हरियाणा की 10 लाख एकड़ खेती की जमीन बंजर पड़ी है। 5. पिछले 42 साल से SYL का पानी हरियाणा को नहीं मिलने से 60% जनता को शुद्ध पीने का पानी भी नहीं मिल रहा। 6. अशुद्ध जल पीने के कारण इंसानों और पशुओं में कई तरह की लाईलाज बीमारियाँ बढ़ रही है जैसे सफ़ेद बाल हो रहे है और गंजे हो रहे है जल्दी। 7. 80% हरियाणा के गाँवों में भूमिगत जलस्तर (चौवा) एक हजार फ़ीट निचे जा चुका है जिसके कारण किसानों को खेती व आम जनता को पानी की समस्या हो रही है। 8. अगर SYL का पानी हरियाणा को मिल जाए तो 40 लाख टन अनाज किसान हर साल उगाकर जनता का पेट भर सकते है।

जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद पहुंचे मंढाक धाम

जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद पहुंचे मंढाक धाम बाबा नगर दास कुस्ती अकैडमी द्वारा आयोजित कबड्ड़ी महाकुंभ में भाग लिया जयहिन्द सेना प्रमुख नवीन जयहिंद आज मंढाक धाम में पहुँचें ।मडाक धाम में हर साल कबड्ड़ी का टूर्नामेंट करवाया जाता है। इस बार भी नए साल पर बाबा नगर दास कुस्ती अकैडमी द्वारा हरियाणा के रोहतक गांव मंढाक में एक लाख ईनामी कबड्ड़ी महाकुंभ करवाया गया, खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने नवीन जयहिन्द भी बतौर अतिथि वहां पहुंचे। जयहिन्द ने हरियाणा के अलग-अलग ज़िलों से टीम इस महा कुंभ में हिस्सा लेने आई । इस मौक़े पर नवीन जयहिंद ने पॉइंट लेने वाले खिलाड़ियों को 500 रुपये देकर पुरस्कृत किया। जयहिन्द ने इस अवसर संदेश देते हुए कहा कि खेल हमे नशे व क्राइम से दूर रखता है और खेल हमे शारीरिक व मानसिक रूप से मजबूत बनाता है। कबड्डी प्रदेश की माटी का पारंपरिक खेल हैं। इसे गांव-गांव में पुराने समय से खेला जा रहा है। इस तरह की खेल प्रतियोगिताओं से हमारा भाईचारा भी मजबूत बनता हैं। जयहिंद ने प्रतियोगिता के आयोजको का धन्यवाद करते हुए कहा की समय-समय पर इस तरह के आयोजन होते रहने चाहिए ताकि समाज के जरूरत मंद लोगों की सहायता करने के साथ साथ आपसी भाई चारे की भावना बनी रहे । इसी में बॉक्स मंढाक कबड्डी महाकुंभ में पहुंचे लोगों को नवीन जयहिंद ने SYL पानी का धर्म युद्ध यात्रा जो कि २ जनवरी को महम चौबीसी के चबूतरे से शुरू हो रही है का न्यौता दिया । साथ ही नवीन जयहिंद ने मंढाक धाम में बाबा भोला दास का आशीर्वाद लिया और SYL पानी का धर्म युद्ध के लिए शुरू की जा रही यात्रा को प्रदेश की जनता के हित और हक़ में बताया ।

2 जनवरी महम चौबीसी के ऐतिहासिक चबूतरे से SYL पानी की धर्मयुद्ध यात्रा

पंजाब से पानी पाकिस्तान जा रहा है लेकिन हरियाणा को क्यों नही : नवीन जयहिंद 2 जनवरी महम चौबीसी के ऐतिहासिक चबूतरे से SYL पानी की धर्मयुद्ध यात्रा सुप्रीम कोर्ट को गाय व भैंस का देसी घी गिफ्ट करेंगे जयहिन्द मुख्यमंत्री केजरीवाल व भगवंत मान को 1-1 लाख रुपए का ईनाम देंगे जयहिन्द जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद ने टैंट(तंबू) से प्रेसवार्ता कर सभी देशवासियों को नए साल की शुभकामनाएं दी साथ ही घोषणा की के 2 जनवरी 2024 को दोपहर 12 बजे महम चौबीसी के ऐतिहासिक चबूतरे से जयहिन्द अपने चार साथियो के साथ SYL धर्मयुद्ध यात्रा की शुरुआत करके सुप्रीम कोर्ट के सामने तक जाएंगे और सुप्रीम कोर्ट को नए साल पर गाय व भैंस का देसी घी नए साल पर गिफ्ट करके आएंगे। साथ ही माननीय कोर्ट से अपील करेंगे कि वे SYL नहर पर कोर्ट के निर्णय को लागू करवाया जाए। जयहिन्द ने 7027-822-822 नंबर जारी करते हुए बताया कि जो भी साथी यात्रा से जुड़ना चाहता है वह वह इस नंबर पर मिस्ड कॉल करे, उनका यात्रा में स्वागत है। जयहिन्द ने घोषणा करते हुए कहा कि हम मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल व भगवंत मान को 1-1 लाख रुपये का ईनाम देंगे अगर वे यह बयान दे कि SYL नहर का निर्माण व सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू होगा। और उनकी पार्टी के जो छोटे नेता है अगर वे कहते है तो उनके लिए 11 हजार का ईनाम। वीरवार को SYL के पानी को लेकर हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्रियों व कैबिनेट मंत्री की मीटिंग हुई थी। जिसमे भगवंत मान जी ने साफ इंकार कर दिया कि उनके पास हरियाणा को पानी देने के लिए पानी नही है। जबकि गौर करने योग्य बात यह है कि पंजाब से पाकिस्तान पानी जा रहा है तो हरियाणा क्यों नही आ रहा? जबकि हरियाणा पंजाब का छोटा भाई कहा जाता है। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि पंजाब की जनता तो चाहती है कि हरियाणा को पानी मिले लेकिन पंजाब की राजनीतिक पार्टियां व राजनेता नही चाहते कि हरियाणा को पानी मिले। जयहिन्द का कहना है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर साहब को हरियाणा वासियो के लिए SYL नहर पर सुनवाई के समय सुप्रीम कोर्ट में खड़े रहना चाहिए। ताकि निर्णय जल्द लागू हो सके। अब यह राजनीतिक लड़ाई नही बल्कि न्याययिक लड़ाई है। और जो नेता या अभिनेता हरियाणा के हक़ में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करवाने की आवाज नही उठा रहा( syl नहर निर्माण के बारे में नही कह रहा) सब गद्दार है। एक पत्रकार साथी के सवाल का जवाब देते हुए जयहिन्द ने बताया कि SYL नहर की बात उठाने को लेकर मुझे बहुत सी धमकियां मिलती है लेकिन मुझे अपनी जान की कोई परवाह नही है। जनता के लिए आखरी दम तक लड़ता रहूंगा। जयहिन्द ने कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं के माध्यम से बताया कि SYL नहर का निर्माण क्यों जरूरी है। 1. हरियाणा के लोग बड़े भाई पंजाब से भीख नहीं अपना हक़ मांग रहे है। 2. पंजाब से पानी पकिस्तान जा रहा है लेकिन हरियाणा को नहीं दिया जा रहा ऐसा क्यों.? 3. हरियाणा के 22 जिलों में से 17 जिलो में जहरीला पानी पी रहे है हरियाणा के लोग। 4. पानी की वजह से हरियाणा की 10 लाख एकड़ खेती की जमीन बंजर पड़ी है। 5. पिछले 42 साल से SYL का पानी हरियाणा को नहीं मिलने से 60% जनता को शुद्ध पीने का पानी भी नहीं मिल रहा। 6. अशुद्ध जल पीने के कारण इंसानों और पशुओं में कई तरह की लाईलाज बीमारियाँ बढ़ रही है जैसे सफ़ेद बाल हो रहे है और गंजे हो रहे है जल्दी। 7. 80% हरियाणा के गाँवों में भूमिगत जलस्तर (चौवा) एक हजार फ़ीट निचे जा चुका है जिसके कारण किसानों को खेती व आम जनता को पानी की हुई समस्या हो रही है। 8. अगर SYL का पानी हरियाणा को मिल जाए तो 40 लाख टन अनाज किसान हर साल उगाकर जनता का पेट भर सकते है।

SYL नहर के पक्ष में न बोलने वाली राजनीतिक पार्टियां गद्दार है : नवीन जयहिंद

सुप्रीम कोर्ट का अपमान किया जा रहा है – जयहिन्द सुप्रीम कोर्ट के सामने जाएंगे जयहिन्द हरियाणा में 22 में से 17 जिले जहरीला पानी पी रहे हैं : नवीन जयहिंद SYL नहर के पक्ष में न बोलने वाली राजनीतिक पार्टियां गद्दार है : नवीन जयहिंद आज चंडीगढ़ में कैबिनेट मंत्री की मौजूदगी में SYL मुद्दे पर हुई हरियाणा–पंजाब के मुख्यमंत्रियों की बैठक आज भी सिर्फ चाय–बिस्किट की मीटिंग बन कर रह गई। जिस तरह से मीटिंग में सुप्रीप कोर्ट के निर्णय को नजरंदाज करके उसका अपमान किया गया है उससे इन राजनीतिक पार्टियों की मंशा साफ नजर आती है। वे नही चाहते की हरियाणा की जनता को उनके हक का साफ पानी मिले। ये सभी राजनीतिक पार्टियां SYL के नाम पर सिर्फ राजनीति करती है और इसे केवल एक राजनीतिक मुद्दा ही बने रहने देना चाहती है। जिस तरह से मीटिंग में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अपमान किया है उस पर जयहिन्द ने कहा की अब हम सुप्रीम कोर्ट के सामने जाएंगे। जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद ने कहा कि SYL के पक्ष में न बोलने वाली हरियाणा की राजनीतिक पार्टियां गद्दार है। हरियाणा की जनता अपने हक की SYL नहर मांग रही है और हरियाणा में 22 में से 17 जिले जहरीला पानी पी रहे है। जिससे की हरियाणा की जनता को अलग–अलग तरह की बीमारियों से गुजरना पड़ रहा है। जयहिंद ने कहा कि हरियाणा की लाखों एकड़ जमीन पानी न मिलने की वजह से बंजर पड़ी है। अगर हरियाणा को उसके हक का पानी मिले तो किसान इस जमीन अनाज उगा कर भूखी जनता का पेट भर सकता है । जयहिंद ने सुप्रीमकोर्ट के आदेश का जिक्र करते हुए कहा कि जिस तरह से सरकार ने बाग को खाली करवाने के लिए कोर्ट के आदेश माने। उसी तरह से syl के मामले पर भी सुप्रीम कोर्ट का फैसला मान्य होना चाहिए जो कि हरियाणा के हक में आया हुआ है। ये फैसला भी सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया है।

चाय-बिस्किट खाने पीने वाली मीटिंग न हो SYL का समाधान हो : जयहिंद

चाय-बिस्किट खाने पीने वाली मीटिंग न हो SYL का समाधान हो : जयहिंद या तो भाईचारे से SYL का समाधान हो, नही तो सुप्रीम कोर्ट का निर्णय तुरन्त लागू किया जाए : नवीन जयहिंद जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद ने वीरवार को SYL के पानी को लेकर हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्री की होने वाली मीटिंग पर बयान जारी करते हुए कहा कि दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री SYL के पानी के मुद्दे के समाधान के लिए ये मीटिंग करेंगे न कि चुनावी स्टंटबाजी में । इस बार हरियाणा के मुख्यमंत्री से उम्मीद है कि वे हरियाणा को अपना हक दिलवाएंगे और SYL के पानी के मुद्दे का समाधान करवाएंगे । इसे चुनावी मुद्दा नहीं बनाएंगे। जयहिंद ने कहा कि हरियाणा की लाखों एकड़ जमीन पानी न मिलने की वजह से बंजर पड़ी है। अगर हरियाणा को उसके हक का पानी मिले तो किसान इस जमीन अनाज उगा कर भूखी जनता का पेट भर सकता है । जयहिंद ने आगे कहा कि आज भी हरियाणा की जनता को साफ पीने का पानी तक नहीं मिल रहा है। जिसकी वजह से महिलाओं और बच्चों में कैंसर जैसी भयावह बीमारियां फैल रही है । वहीं कई जिलों में भूमिगत पानी पाताल में जा चुका है। जयहिंद ने सुप्रीमकोर्ट के आदेश का जिक्र करते हुए कहा कि जिस तरह से सरकार ने बाग को खाली करवाने के लिए कोर्ट के आदेश माने। उसी तरह से syl के मामले पर भी सुप्रीम कोर्ट का फैसला मान्य होना चाहिए जो कि हरियाणा के हक में आया हुआ है। ये फैसला भी सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया है।

दारू को नहीं दूध को बनाएं अपने जीवन का हिस्सा- जयहिंद

दारू को नहीं दूध को बनाएं अपने जीवन का हिस्सा- जयहिंद 108 वर्षीय स्वर्गीय पंडित गोपी राम जी की सत्रहवीं (रस्म पगड़ी) पर श्रद्धांजली देने पहुंचे : नवीन जयहिंद जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद पानीपत के गांव बलाना के मामन शर्मा के 108 वर्षीय पूज्य पिताजी स्वर्गीय पंडित गोपी राम शर्मा जी की सत्रहवीं/रस्म पगड़ी पर पहुंचे, जहां उन्होंने श्रद्धांजलि अर्पित की और प्रार्थना की के भगवान उन्हें स्वर्ग में जगह दें। जयहिन्द ने बताया कि दादा गोपीराम शर्मा ने पहरावर गांव में जो दो बार भगवान परशुराम जयंती मनाई गई उनके न्योते बड़े जोश के साथ खुद पूरे पानीपत जिले में दिए थे। जयहिन्द ने दादा गोपी शर्मा को नमन करते हुए सन्देश दिया कि दादा ने अपने 108 वर्ष के जीवन मे कभी नजर का चश्मा नही लगाया और इस तरह से एक स्वस्थ व निरोगी जीवन जीना अपने आप मे बहुत बड़ी बात है। दादा दूध पीने के बड़े शौकीन थे। समय की पाबंदी के रोटी खाते थे। हर रोज रात को 8 बजे सोते और सुबह 4 बजे उठते व मेहनत करते थे। दिन में 2 से 3 घण्टे उकडू बैठते थे ।आज के युवाओं को वे 100 साल की उम्र में भी टक्कर दे सकते थे। जयहिन्द ने बताया कि हमारे बुजुर्गो की यह बहुत खास बात है कि वे सदा हस्ते-मुस्कुराते, आपसी भाईचारा बनाकर रखते है और बिना किसी चिंता के अच्छा खाते-पीते है। कभी किसी से बैर नहीं रखते है। जयहिंद ने युवाओं से भी अपील की कि वे अपने बुजुर्गों से प्रेरणा ले और अपने खान-पान और स्वास्थ्य को सुधारे। दारू को नहीं दूध को बनाएं अपने जीवन का हिस्सा । नवीन जयहिंद ने पण्डित गोपी राम शर्मा की पवित्र आत्मा की शान्ति और परमात्मा से उनके स्वर्ग में स्थान पाने के कामना की। इस मौके पर मौजूद ब्राह्मण समाज के प्रधान राम रत्न शर्मा सहित भाईचारे के लोगों ने भी उनके जीवन के कई किस्से सांझा किए और उन्हें आज की पीढ़ी का प्रेरणा स्त्रोत बतलाया।

भव्य और परी एवं चैतन्य और सृष्टि को विवाह की ढेर सारी शुभकामनाएं - नवीन जयहिन्द

भव्य और परी एवं चैतन्य और सृष्टि को विवाह की ढेर सारी शुभकामनाएं - नवीन जयहिन्द आदमपुर - कुलदीप बिश्नोई के बेटे जो कि आदमपुर विधानसभा से विधायक है भव्य बिश्नोई संग IAS अफसर परी बिश्नोई और उनके भाई चैतन्य बिश्नोई संग सृष्टि 22 दिसंबर को शादी के बंधन में बंध चुके हैं। 26 दिसंबर को आदमपुर अनाज मंडी में प्रतिभोज व आशीर्वाद समारोह का आयोजन किया गया जिसमे जयहिन्द सेना के सुप्रीमो नवीन जयहिन्द भी शुभकामनाएं देने कार्यक्रम में पहुंचे। जयहिन्द ने उन्हें शुभकामनाएं दिया और उनके अच्छे भविष्य की कामना की।

जयहिंद के पास समर्थको का लगा ताता, दिल खोलकर तन मन धन से साथ देने का किया वादा

जयहिंद के पास समर्थको का लगा ताता, दिल खोलकर तन मन धन से साथ देने का किया वादा बाग पर जिस तरह सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू किया , SYL पर भी कोर्ट का निर्णय लागू करे सरकार - जयहिंद जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद लंबे अरसे से जिस बाग में रहे थे उसे शनिवार को खाली कर दिया था और सड़क पर अपना बसेरा जमाया। बाग खाली करने के बाद अगले दिन रविवार को सैकडों की संख्या में क्रांतिकारी साथी जयहिन्द से मिलने रोहतक पहुंचे और तन-मन-धन से साथ देने का आश्वासन दिया और नोटो की माला, कंबल व देसी घी भेंट किए। जो लोग नही पहुँच पाए उन्होंने सोशल मीडिया के जरिये अपना संदेश पहुंचाया। जयहिन्द ने 9050906161 नंबर जारी करते हुए कहा कि अगर किसी साथी के पास कोई जगह किराए पर खाली हो तो 9050906161 नंबर पर फोन करके हमे जरूर बताए। जयहिन्द ने कहा कि यह कोई धरना नही बल्कि घर है। हमे अपनी कोई चिंता नही है बल्कि जब तक गऊओं के रहने की जगह नही मिल जाती तब तक हम सड़क पर रहेंगे। जयहिंद ने सुप्रीमकोर्ट के आदेश का जिक्र करते हुए कहा कि जिस तरह से सरकार ने बाग को खाली करवाने के लिए कोर्ट के आदेश माने। उसी तरह से syl के मामले पर भी सुप्रीम कोर्ट का फैसला मान्य होना चाहिए जो कि हरियाणा के हक में आया हुआ है। आने वाली 28 तारीख को SYL मामले पर हरियाणा, पंजाब के मुख्यमंत्री की मीटिंग होगी जिसमे एक कैबिनेट मंत्री भी शामिल होंगे। तो जिस तरह से सुप्रीम कोर्ट ने SYL का पानी हरियाणा को देने का फैसला सुनाया है तो यह आदेश भी सरकार को मानना चाहिए। जयहिन्द ने बाग के मालिक एडवोकेट राजबीर राठी, सुखबीर राठी, महाराज सिंह और उनके परिवार का धन्यवाद करते हैं जो उन्होंने इतने समय तक उनके साथ दिया। वे नहीं चाहते कि परिवार को किसी भी तरह की कोई समस्या आए । नवीन जयहिंद ने कहा कि इस बाग से उनकी और उनके साथियों की हजारों अच्छी यादें जुड़ी हुई है चाहे वह कोरोना काल हो या फिर हरियाणा के बुजुर्गों, दिव्यांगों और बेरोजगारों की आवाज उठाने का संघर्ष हो। हर संघर्ष का साथी ये बाग और यहां रहने वाले पशु -पक्षी रहे है । जयहिंद ने प्रदेश की जनता और अपने साथियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि आज तक उनकी लड़ाई जिसने भी साथ दिया वह उसका धन्यवाद करते हैं और आगे भी बहुत आभारी रहेंगे। भगवान श्री कृष्ण ने कहा है कि जो हो रहा है वो भी अच्छा हो रहा है और जो आगे होगा वो भी अच्छा ही होगा। जो भी भोलेनाथ का आदेश होगा खुले मन से स्वीकार है । जयहिंद ने आगे भावुक होते हुए कहा कि इसी बाग से उन्होंने प्रदेश कि जरूरतमंद जनता के लिए परिवार पहचान पत्र और काटे गए बीपीएल कार्ड समस्या को सरकार के सामने रखा था और हज़ारों लोगों की एफसी मदद की थी। दादा दुलीचंद के साथ मिलकर "थारा फूफा जिंदा है" अभियान भी यहीं से चलाया था और प्रदेश के लाखों बुजुर्गों, दिव्यांगों और विधवाओं की पेंशन को बहाल करवाया था। लंबे समय से भर्तियों के लिए तरस रहे प्रदेश के लाखों बेरोजगारों के लिए "बेरोजगारों की बारात" निकालकर सीईटी की भर्ती निकलवाई थी और पुलिस भर्ती का रिजल्ट जारी करवाया था । हरियाणा पुलिस के कर्मचारी, एसपीओ गार्ड और होमगार्ड के कर्मचारियों के लिए आवाज उठाई थी । खिलाड़ियों के लिए खेल कोटा बहाल करवाया था । रोहतक पीजीआई में हो रही बाहरी लोगों की भर्तियों के खिलाफ़ आवाज उठाई और केस दर्ज हुआ व जेल गए । जयहिंद ने पहरावर की जमीन के मुद्दे को भी उठाते हुए कहा कि यहीं से उन्होंने समाज को पहरावर की जमीन दिलाने की लड़ाई लड़ी थी और और उन पर केस दर्ज हुए थे। भाईचारे के लिए , नशे के खिलाफ व प्रदेश बेरोजगारों के लिए कावड़ यात्रा की शुरूआत थी से की थी । जयहिंद ने साथ ही जनता से भी अपील की कि अगर कोई साथी मदद करना चाहे तो स्वागत है नहीं तो वे सड़क पर भी रह लेंगे।

बाग ख़ाली कर बोले जयहिन्द अच्या चलता हूँ दुआओ में याद रखना

बाग ख़ाली कर बोले जयहिन्द अच्या चलता हूँ दुआओ में याद रखना तन मन धन से साथ देने वालों का दिया धन्यवाद- जयहिंद जो भोले की मर्ज़ी वो मुझे मंज़ूर-जयहिंद जयहिंद सेना प्रमुख नवीन जयहिंद लंबे अरसे से जिस बाग में रहे थे उसे शनिवार को खाली कर दिया हैं। शनिवार को इसी बाग से प्रेसवार्ता कर नवीन जयहिंद ने पत्रकारों से कहा कि वे इस बात के लिए बाग के मालिक एडवोकेट राजबीर राठी, सुखबीर राठी, महाराज सिंह और उनके परिवार का धन्यवाद करते हैं जो उन्होंने इतने समय तक उनके साथ दिया। वे नहीं चाहते कि परिवार को किसी भी तरह की कोई समस्या आए । नवीन जयहिंद ने कहा कि इस बाग से उनकी और उनके साथियों की हजारों अच्छी यादें जुड़ी हुई है चाहे वह कोरोना काल हो या फिर हरियाणा के बुजुर्गों, दिव्यांगों और बेरोजगारों की आवाज उठाने का संघर्ष हो। हर संघर्ष का साथी ये बाग और यहां रहने वाले पशु -पक्षी रहे है । जयहिंद ने सुप्रीमकोर्ट के आदेश का जिक्र करते हुए कहा कि हाईकोर्ट के बाद सुप्रीमकोर्ट में जब ये मामला पहुंचा तो कोर्ट ने सरकार के हक में फैसला दिया और कहा जो सरकार इस जमीन के साथ करना चाहे कर सकती है । इसलिए अब वे इस बाग को छोड़ रहे है । जयहिंद ने प्रदेश की जनता और अपने साथियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि आज तक उनकी लड़ाई जिसने भी साथ दिया वह उसका धन्यवाद करते हैं और आगे भी बहुत आभारी रहेंगे। भगवान श्री कृष्ण ने कहा है कि जो हो रहा है वो भी अच्छा हो रहा है और जो आगे होगा वो भी अच्छा ही होगा। जो भी भोलेनाथ का आदेश होगा खुले मन से स्वीकार है । जयहिंद ने आगे भावुक होते हुए कहा कि इसी बाग से उन्होंने प्रदेश कि जरूरतमंद जनता के लिए परिवार पहचान पत्र और काटे गए बीपीएल कार्ड समस्या को सरकार के सामने रखा था और हज़ारों लोगों की एफसी मदद की थी। दादा दुलीचंद के साथ मिलकर "थारा फूफा जिंदा है" अभियान भी यहीं से चलाया था और प्रदेश के लाखों बुजुर्गों, दिव्यांगों और विधवाओं की पेंशन को बहाल करवाया था। लंबे समय से भर्तियों के लिए तरस रहे प्रदेश के लाखों बेरोजगारों के लिए "बेरोजगारों की बारात" निकालकर सीईटी की भर्ती निकलवाई थी और पुलिस भर्ती का रिजल्ट जारी करवाया था । हरियाणा पुलिस के कर्मचारी, एसपीओ गार्ड और होमगार्ड के कर्मचारियों के लिए आवाज उठाई थी । खिलाड़ियों के लिए खेल कोटा बहाल करवाया था । रोहतक पीजीआई में हो रही बाहरी लोगों की भर्तियों के खिलाफ़ आवाज उठाई और केस दर्ज हुआ व जेल गए । जयहिंद ने पहरावर की जमीन के मुद्दे को भी उठाते हुए कहा कि यहीं से उन्होंने समाज को पहरावर की जमीन दिलाने की लड़ाई लड़ी थी और और उन पर केस दर्ज हुए थे। भाईचारे के लिए , नशे के खिलाफ व प्रदेश बेरोजगारों के लिए कावड़ यात्रा की शुरूआत थी से की थी । जयहिंद ने साथ ही जनता से भी अपील की कि अगर कोई साथी मदद करना चाहे तो स्वागत है नहीं तो वे सड़क पर भी रह लेंगे।

Find Us on Facebook