Search

Press Note

पुलिस परिवार का भी ध्यान रखे डीजीपी साहब - जयहिंद

रोहतक : हरियाणा में पुलिस कर्मचारी अपनी मांगो को लेकर लामबंद हैं जिसके लिए पिछले दिनों हरियाणा पुलिस ने सोशल मिडिया और ट्विटर अभियान के तहत अपनी मांगो को सरकार तक पहुंचाने के लिए कैंपेन चलाया था । वही नवीन जयहिंद भी काफी समय से हरियाणा पुलिस की मांगो को उठाता रहा हैं। इसी कड़ी में आज हरियाणा पुलिस के मुखिया डीजीपी शत्रुजीत कपूर रोहतक पहुंचे तो जयहिंद ने डीजीपी को अपने ही परिवार की मांगो की तरफ ध्यान दिलाने का आग्रह किया। जयहिंद ने बताया कि हरियाणा पुलिस के कर्मचारी अपनी मांगो के लिए उनके पास बार बार फोन करके अपनी समस्याओं से अवगत कराते है । हरियाणा पुलिस के कर्मचारी डीजीपी साहब के अपने परिवार के सदस्य हैं और उन्हें अपने परिवार की समस्याओं का तुरंत समाधान करना चाहिए ताकि हरियाणा पुलिस के कर्मचारी अच्छी तरह अपनी ड्यूटी और कर्तव्य का पालन कर सके । जयहिंद ने हरियाणा पुलिस की मांगो और उनकी समस्याओं की ओर ध्यान दिलाते हुए बताया की हरियाणा पुलिस विभाग में हजारों की संख्या में पद खाली पड़े हैं। एक पुलिस कर्मचारी को दो दो पुलिस कर्मचारियों का काम करना पड़ रहा हैं जिसके कारण उन्हें मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। जयहिंद ने हरियाणा पुलिस के कर्मचारियों की ड्यूटी 8- 8 घंटे की करने बारे कहते हुए बताया की हरियाणा पुलिस का भी अपना घर परिवार हैं और हरियाणा पुलिस कर्मचारी भी इंसान हैं जबकि उनसे 24 घंटे ड्यूटी लेकर उनके मानवधिकारो का हनन किया जा रहा हैं । जयहिंद ने कहा कि हरियाणा पुलिस के कर्मचारी भी बीमार होते हैं क्योंकि उन्हें ड्यूटी पर कई तरह की स्मायाओं से गुजरना पड़ता है जिसकी वजह से उनके स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है । सरकार को चाहिए कि उन्हें मेडिकल कैशलेस सुविधा मिले और सभी प्रकार के पैनल और इंपैनलड हॉस्पिटल में फ्री इलाज मिले। जयहिंद ने कहा कि पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को सीनियर लिखित में आदेश दे ताकि विभाग में भ्रष्टाचार खत्म हो सके और जूनियर अधिकारियों पर सीनियर अधिकारियों का दबाव कम से कम हो ताकि जनता की सेवा करने में कोई अवरोध उत्पन्न ना हो। जयहिंद ने होमगार्ड और एसपीओ की सैलरी का मुद्दा भी उठाते हुए कहा कि डीजीपी साहब होमगार्ड और SPO पिछले कई महीनों से अपनी तनख्वाह को लेकर सरकार और विभाग दोनो को लिख कर है और प्रदर्शन भी कर चुके । जब कानूनी व्यवस्था संभालने वाली ही सड़कों पर है तो फिर प्रदेश की जनता कैसे सुरक्षित रह सकती है। जयहिंद ने प्रदेश के डीजीपी से अपील करते हुए कहा कि पुलिस उनका परिवार है और परिवार के सदस्यों का ख्याल रखना मुखिया की जिम्मेदारी होती है। अब जब वे हरियाणा पुलिस विभाग की कमान संभाल चुके है तो वे जल्द से जल्द हरियाणा पुलिस, होमगार्ड और एसपीओ विभाग के सभी कर्मचारियों की मांगों को जल्द से जल्द पूरा करेंगे।

मुख्यमंत्री जेलों की बजाय स्कूलों का उद्घाटन करें - जयहिंद

मुख्यमंत्री बांस गांव में आ कर करें जन संवाद -जयहिंद आज मंगलवार को शिक्षक दिवस पर नवीन जयहिंद ने बांस गांव में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की। गांववासियों और जन युवा जागृति मंच के सदस्यों ने नवीन जयहिंद का फूल मालाओं से स्वागत किया। शिक्षक दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में नवीन जयहिंद ने उपस्थित बच्चों और युवाओं के उज्जवल भविष्य की कामना की और उन्हें अपने शिक्षकों और बड़ों का आदर सम्मान करने के लिए करने के लिए कहा और साथ ही उन्हें मेहनत करने के लिए प्रोत्साहित किया। उपस्तिथ माता -पिता और बुजुर्गों से आह्वान किया कि वे बच्चों पर ध्यान दे और अच्छे संस्कार दे। बच्चे ही आने वाला भविष्य है। वही मंच से नवीन जयहिंद ने बांस गांव की समस्याओं को उठाते हुए कहा कि गांव में ना तो पीने के लिए पानी की व्यवस्था है और नहीं बिजली का कोई प्रबंध है 10-10 घंटे तक लाइट नहीं आती है। वही गांव में पानी निकासी की भी कोई उचित व्यवस्था नहीं है। इस गांव में चार-चार सरपंच है लेकिन फिर भी उनकी कोई सुनने वाला नहीं है। यहां के मौजूदा विधायक और सांसद गांव की सुध तक लेने नहीं आते हैं। इतने बड़े गांव में ना कोई कॉलेज है ना कोई स्कूल है। अस्पताल में डॉक्टर नहीं है। वही जयहिंद ने गांव वालों से मुख्यमंत्री के जन संवाद की हामी भी भरवाई। कहा कि क्या मुख्यमंत्री बांस गांव में आकर अपना जनसंवाद करेंगे? जयहिंद ने मुख्यमंत्री के जेलों के उद्घाटन पर भी सवाल खड़े करते हुए कहा कि शिक्षक दिवस पर प्रदेश के मुख्यमंत्री जेलों का उद्घाटन कर रहे हैं, कम से कम मुख्यमंत्री पांच शिक्षकों को बुलाकर उन्हें ही सम्मानित कर देते तो शिक्षक दिवस का मान तो रह जाता। किसी स्कूल में पांच ईंट लगवा देते । प्रदेश के युवाओं को रोजगार तो दे नहीं पा रहे है जेल पर जेल बनवाए जा रहे है। रोजगार के अभाव में युवा या तो नशे की तरफ जाता है या फिर क्राइम की तरफ और इसका अंत जेल में होता है । ये एक गंभीर मुद्दा है लेकिन न सरकार को चिंता है और न विपक्ष को। जयहिंद ने कहा कि अपने हक के लिए खुद आगे आना होगा और लड़ाई लड़नी होगी । इन नेताओं के सामने फूल -मालाओं के साथ अपने मुद्दे भी लेकर जाया करो ।

स्वतंत्रता सेनानी श्री राम शर्मा पार्क जमीन की तरफ देख भी नही लेना सरकार - जयहिंद

अगर सरकार के पास पैसा नहीं तो कटोरा लेकर निकले मुख्यमंत्री- जयहिंद स्वतंत्रता सेनानियों का नाम मिटानी चाहती है सरकार - जयहिंद नवीन जयहिंद रविवार को झज्जर में ब्राह्मण धर्मशाला में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करने पहुंचे । इस मौके पर उन्होंने पंडित श्रीराम शर्मा पार्क की बेची जा रही जमीन का मुद्दा उठाया। जयहिंद ने कहा कि यह पूरे प्रदेश के लिए शर्म की बात है कि एक स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर बने पार्क की जमीन को सरकार खुलेआम नीलाम कर रही है। पंडित श्रीराम शर्मा एक बिरादरी के नहीं बल्कि सर्व समाज के व्यक्ति थे । वे स्वतंत्रता सेनानी थे और आंदोलनकारी थे जिन्होंने अग्रेजों से भी लोहा लिया था। उनका इस तरीके से नाम मिटाया जाना सरकार सहित प्रदेशवासियों के लिए शर्मनाक है। जयहिंद ने सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अगर मुख्यमंत्री के पास पैसा नहीं है तो कटोरा उठा ले। सरकार झज्जर के लोगों को और प्रदेश की जनता को बताती कि एक स्वतन्त्रता सेनानी के नाम पर उनका खज़ाना खाली हो गया है। जिस स्मारक और पार्क के लिए झज्जर के लोगों ने 36 बिरादरी के लोगों के भाईचारे के साथ आंदोलन किया बाजार बंद रहे । आज उसी जनता को से एक बार पूछा तक नहीं गया और चुपचाप जमीन बेचने की तैयारी कर दी। जयहिंद ने कहा कि उस वक्त प्रशासन द्वारा आश्वासन दिया था कि इसे और बेहतर तरीके से बनाया जाएगा, क्या पण्डित जी के नाम की जमीन बेच कर सरकार उनके नाम पर ही पार्क बनाएगी। जयहिंद ने सवाल करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री साहब अब बात ब्राह्मणों की नहीं की बल्कि , 36 बिरादरी की है । इस पार्क में जहां सबके बच्चे खेलते है, हर रामलीला होती थी। आप श्रीराम शर्मा के साथ श्री रामचंद्र को खत्म कर रहे हो क्या । अब तय मुख्यमंत्री साहब को करना है कि उन्हे लोगों का श्राप चाहिए या फिर आशीर्वाद । जयहिंद ने कहा कि दिल्ली के उर्दू के अखबार में विज्ञापन देकर सरकार आनन-फानन में इस जमीन को बेचने की साजिश रच रही है। जयहिंद ने वही समाज के ठेकेदारों को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि अब वे समाज के ठेकेदार कहां है जो सिर्फ श्रेय लेने के लिए लाइन में लगे रहते है। क्या सिर्फ वो वाह वाही लेने के लिए है। सांसद कार्तिकेय शर्मा, सांसद डीपी वत्स, सांसद अरविंद शर्मा, विधायक राजकुमार गौतम, विधायक कुलदीप वत्स, पूर्व मंत्री रामबिलास शर्मा सहित पक्ष -विपक्ष ने सांसद, विधायक और नेता चुप्पी क्यों साधे हुए है। जयहिंद ने कहा कि मौजूदा विधायक और पूर्व विधायक , अधिकारियों की कॉल डिटेल्स की जांच होनी चाहिए। इस पूरे मामले की गहन जांच होनी चाहिए और इस साजिश में शामिल अधिकारियों पर कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए। उन्होने सुबह 9 बजे तक का सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि या तो सरकार इस मामले की जांच कर और दोषियों को सजा दे या फिर वो सरकार के खिलाफ जनता के साथ सड़कों पर उतरेंगे।

साईकिल से नही सोटे से खत्म होगा नशा - नवीन जयहिन्द

बेरोजगारी नशे और क्राइम का बहुत बड़ा कारण है - जयहिन्द आज नवीन जयहिंद राजीव गांधी स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में पहुंचे। राजीव गांधी स्पोर्ट्स कंपलेक्स में उनके सामने इंजेक्शनों का ढेर पड़ा हुआ था। जिन्हें देख हैरान और दुखी हो गए। जयहिंद ने बताया कि उनके पास एक खिलाड़ी की कॉल आई जिसने उन्हें राजीव गांधी स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में चल रहे हैं नशे के बारे में बताया। इसके बाद में वे खुद अपने साथियों के साथ राजीव गांधी स्पोर्ट्स कंपलेक्स का मुआयना करने पहुंचे। मौके पर उन्हें खाली सिरिंज और इंजेक्शन की बोतलों का ढेर मिला। जयहिंद ने कहा कि मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों के साइकिल चलाने से प्रदेश में से नशा खत्म नहीं होगा। युवा नशे के गर्त में जा रहे हैं। न केवल आने वाली पीढ़ियां खराब हो रही है बल्कि हजारों परिवार भी बर्बाद हो रहे हैं। सरकारें सिर्फ साइकिल चलाने का पाखंड कर रही है, नशे को रोकने के लिए कोई ठोस कदम उठाने पर कोई काम नहीं कर रहीं है। जनता का पैसा इन ढोंगों में बर्बाद कर रही है और युवा नशे से बर्बाद हो रहा है । सिर्फ जनता को भ्रमित करके मुद्दे से भटकने के लिए इस तरह के प्रपंच किए जा रहे है। जयहिंद ने कहा कि प्रदेश में जिस तरीके से बेरोजगारी चरम सीमा पर है उसे युवा परेशान होकर नशे और क्राइम की दुनिया में जा रहे हैं। 65 हजार भर्तियां करने वाली सरकार अब साईकिल चला कर प्रदेश को चलाएगी। जयहिंद ने कहा कि जिस तरह सोटे से खिलाड़ियों का खेल कोटे को बहाल करवाया था उसी तरीके से नशा भी सोटा से खत्म किया जाएगा। जयहिंद ने आगे बताया कि जिस तरह से वह सोटे को लेकर के खिलाड़ियों के खेलकोटे बहाल करने के लिए मैदान में उतरे थे वैसे ही उन्हें सोटा लेकर एक बार फिर नशे के खिलाफ मैदान में आना पड़ेगा ठीक है ।

शहीद किसी जाति -बिरादरी या क्षेत्र का नहीं होता, बल्कि सबका साझा होता है - जयहिंद

आज नवीन जयहिंद पलवल जिले में शहीद जवान मनमोहन सिंह को श्रद्धांजलि देने पहुंचे । शहीदों की तेरहवीं से पहले पहुंच जानी चाहिए सरकार की सुविधाएं – जयहिन्द पलवल – लेह लद्दाख में हुए हादसे में हरियाणा के पलवल जिले का मनमनोहन सिंह भी शहीद हुए थे। सेना के ट्रक के खाई में गिर जाने से शहीद हुआ गांव बहीन का रहने वाला मनमोहन आर्टलरी विंग में गनर था। नवीन जयहिंद ने शहीद मनमोहन सिंह की फोटो को पुष्प अर्पित किए और उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। नवीन जयहिंद परिवार का ढाढस बंधाते हुए कहा कि वे परिवार के हर दुख- सुख में साथ हैं । यह समय गौरव और दुख दोनों का है। यह सौभाग्य हर किसी को नहीं मिलता देश के लिए आप जान देने का। शहीद किसी जाति - बिरादरी क्षेत्र का नहीं होता है । नवीन जयहिंद ने इस मौके पर कहा कि शहीदों की तेरहवी से पहले उनके परिजनों के तक सरकार की सुविधाए पहुंच जानी चाहिए, क्योंकि जवानों का देश की रक्षा में अहम योगदान है और एक शहीद जवान अपने पीछे अपने घर-परिवार को छोड़कर देश के लिए अपना सब कुछ न्योछावर कर देता है। वीर जवानों के बदौलत ही देश की जनता चैन की नींद सो पाती है । जयहिंद ने कहा कि हमारे देश के जवानों की बदौलत ही देश की जनता चैन से सोती हैं देश के जवानों का देश की रक्षा में अहम योगदान हैं जयहिंद ने कहा की जवान, किसान और विज्ञान किसी भी देश की रीढ़ होते हैं जिनके कंधों पर ही देश का भार टिका होता हैं जिस तरह किसान देश का पेट भरता हैं उसी तरह देश का जवान पहरी बनकर देश की सीमाओं पर देश की रक्षा करता हैं साथ ही जयहिंद ने प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार से अपील की कि शहीद का परिवार राष्ट्र परिवार होता है। शहीद देश के लिए अपनी जान देकर अपने पीछे अपने परिवार को छोड़ कर जाता है। तो सरकारें जिस तरह से क्रिकेटरों पर पैसे लुटाती है और उन्हें करोड़ों रुपए का इनाम देती है उसी तरह जवानों को और उनके आश्रितों को भी सम्मानित किया जाना चाहिए। शहीद के परिवार को "राष्ट्र परिवार" बनाये और उन्हें आर्थिक मदद दी जाए । –––बॉक्स––– नवीन जयहिन्द सतीश पहलवान डीएसपी पंजाब पुलिस की स्वर्गीय माँ सावित्री देवी जी की सत्रहवीं पर गांव धनाना(रोहतक) पहुंचे और श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद वहीं गांव में स्थित सिद्ध पीठ श्री शिव मन्दिर में पहुंचे व भगवान भोलेनाथ का आशीर्वाद लिया और सभी के भले की कामना की।

असली रक्षक वहीं जो दूसरों की बहनों को भी अपनी बहन समझे और इज्जत करें -जयहिंद

वीरवार को नवीन जयहिंद ने उनसे मिलने आई बहनों से राखी बंधवाई और मिठाई खाई। इस मौके पर नवीन जयहिंद को राखी बांधने आई छोटी बहनों को आशीर्वाद दिया । नवीन जयहिंद ने इस मौके पर कहा कि असली रक्षक वहीं होता है जो दूसरों की बहनों को भी अपनी बहन के बराबर इज्जत पर दें। जो अपनी पत्नी को शराब पी करके परेशान ना करें, गाली गलौच ना करें ।जो बिना दहेज के शादी करें। वही जयहिंद ने सभी भाइयों से भी अपील की कि वे किसी भी लड़ाई -झगड़े में मां -बहन की गालियाें का इस्तेमाल न करें। मां -बहन सबकी सांझी होती है , सम्माननीय होती है। आपसी मन मुटाव में अभद्र भाषा का प्रयोग न करें। वही सोशल मीडिया पर भी इस तरह की भाषा के इस्तेमाल से बचें। इन विडियो को बच्चे , छोटी -बड़ी बहन व परिवार के लोग देखते है। तो ऐसी किसी भी टिप्पणी से बचें। जयहिंद ने कहा कि उनकी खुद की बहन तो नहीं है लेकिन दूसरों की बहनों को भी वो अपनी बहन समझे है और उनकी हर प्रकार की मदद के लिए हमेशा तैयार है।

हम तो वितमंत्री से गाय के लिए चारा माँगने गये थे जज साहब हम पर केस कर दिया - जयहिंद

नवीन जयहिंद आज रोहतक डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में पहुंचे। आज कोर्ट में गौमाता के चारे और उसकी दुर्दशा को लेकर 7 साल पहले "खूंटा गाड़ अभियान" के दौरान केस दर्ज में पेशी में पहुंचें । इस अभियान के दौरान उन्होंने पूर्व वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के घर के बाहर खूंटा गाड़कर गाय बांधी थी। हरियाणा में गायों की दुर्दशा को देखते हुए यह अभियान चलाया गया था, जिसके चलते जयहिन्द पर केस किया गया। इसी केस को लेकर आज नवीन जयहिन्द रोहतक कोर्ट में गवाही देने पहुंचे, जहां कोर्ट ने अगली सुनवाई 9 जनवरी 2024 में तय की है । इस दौरान कोर्ट में एडवोकेट मदनलाल भारतीय, गौरव भारतीय, एडवोकेट विकास लकड़ा, एडवोकेट रवि कटरिया, एडवोकेट निखिल गोयल नवीन जयहिंद की अगुवाई करने के लिए मौजूद रहे।लेकिन पुलिस की तरफ से कोर्ट में गवाही देने के लिए आज भी कोई नहीं पहुंचा। जयहिन्द ने बताया कि पता नही क्या कारण है कि पुलिस मेरे केस में गवाही देने नही आ रही, इसके पीछे हमे यह मंशा लगती है कि मानो सरकार नही चाहती के जयहिन्द के केस में पुलिस की गवाही हो और जयहिन्द ऐसे ही कोर्ट के चक्कर लगाता रहे। साथ ही जयहिन्द ने कहा कि 2016 में यह केस दर्ज हुआ था लेकिन आज भी गायों दुर्दशा ऐसी ही है। जयहिंद ने कहा कि आप देख सकते है कि कैसे सड़को पर गौ माता कचरा खाती घूम रही है, ऐक्सीडेंट में मर रही है और सुनने वाला भी कोई नही है। उन्होनें कहा कि गौ माता की सुरक्षा के लिए मुझ पर चाहे दस केस और लग जाए तो भी , हमे कोई परवाह नही। गौ माता के लिए हमारी जान भी हाजिर है। इसी में बॉक्स - गरीबों पर रहम करो, घर ना गिराओ मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर साहब : नवीन जयहिन्द अगली बार बुलडोजर हमारे ऊपर से जाकर ही घर तोड़ पाएगा : नवीन जयहिंद नवीन जयहिंद मंगलवार को रोहतक के सिंहपुरा गांव में पहुंचें। कुछ दिन पहले भी नवीन जयहिंद यहां के लोगों के बुलाने पर गए थे। दरअसल प्रशासन अवैध कब्जे के नाम पर पिछले 50 सालों से रह रहे गरीब लोगों का घर गिराने के लिए पहुंचा था। तब भी नवीन जयहिंद ने गांव में पहुंच कर प्रशासन की कार्यवाही रुकवाई थी। एक बार फिर इन गरीब लोगों के घर गिराने के लिए प्रशासन नोटिस लेकर पहुंचा है, तब फिर नवीन जयहिंद इन लोगों की मदद के लिए आगे आए हैं । नवीन जयहिन्द ने कहा कि सरकार ने यहां रह रहे परिवारों को किसी योजना के तहत कोई सुविधा उपलब्ध नहीं करवाई है अगर इन्हें इस घर से बेघर कर दिया गया तो ये लोग सड़कों पर रहने को मजबूर हो जाएंगे। सरकार को चाहिए कि पहले उनके लिए आवास योजना के तहत मकान दे उसके बाद यह जमीन सरकार खाली करवाए। जयहिंद ने यह भी बताया कि अभी यह मामला अभी माननीय हाईकोर्ट में पहुंच चुका है इसलिए प्रशासन को चाहिए कि इंतजार करें जो भी कोर्ट का फैसला होगा वह मान्य होगा। उनका और यहां रह रहे लोगों का न्याय व्यवस्था में पूरा विश्वास है। प्रशासन और सरकार वक्त - बेवक्त आ करके इन गरीब लोगों को परेशान ना करें। वे इन गरीबों की लड़ाई लड़ने के लिए पहली लाइन में खड़े है । प्रशासन और सरकार के बुलडोजर के सामने में खुद खड़े होंगे।

यही खिलाड़ी एक दिन विश्व पटल पर लहराएंगे देश का तिरंगा - जयहिंद

यही खिलाड़ी एक दिन विश्व पटल पर लहराएंगे देश का तिरंगा - जयहिंद आज नवीन जयहिंद रोहतक में आयोजित भारत बॉक्सिंग फेडरेशन द्वारा चैंपियनशिप में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे । इस मौके पर फेडरेशन के मौजूद सदस्यों ने उनका फूल मालाओं से स्वागत किया और चैंपियनशिप में आने का बहुत-बहुत धन्यवाद किया। नवीन जयहिंद ने कंपीटिशन में भाग ले रहे युवा की हौसला अफजाई की और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। भारत बॉक्सिंग फेडरेशन को भी शुभकामनाएं दी और कहा कि फेडरेशन क्षेत्र के युवाओं के सुनहरे भविष्य को तैयार कर रहा है। भारत बॉक्सिंग फेडरेशन की तरफ से यह चैंपियनशिप दीनबंधु छोटू राम बॉक्सिंग स्टेडियम में करवाई गई। जीते हुए खिलाड़ियों को नवीन जयहिंद ने सम्मानित किया और देश का नाम रोशन करने के लिए प्रेरित किया। इस मौके पर प्रेसिडेंट मनीषा , बॉक्सिंग कोच सुधीर, सोनू मलिक सहित कई सदस्य मौजूद रहे। इसी बॉक्स : इस मौके पर नवीन जयहिंद ने इस मौके पर सभी युवाओं, खिलाड़ियों और मौजूद दर्शकों को रविवार 27 अगस्त को बाग में गौरी के जन्मदिवस और बछड़े के नामकरण पर आयोजित देसी घी के भंडारे में प्रसाद गृहण का भी न्यौता दिया।

जनता की समस्याओं के समाधान पर बात करें सरकार और विपक्ष - जयहिंद

नवीन जयहिंद आज रोहतक में सेक्टर 6 स्तिथि बाग़ में पत्रकारों से बातचीत के दौरान सरकार पर जमकर बरसे | हरियाणा विधानसभा के चल रहे सत्र को लेकर नवीन जयहिंद ने सरकार को घेरा | उन्होंने किसानों को ट्यूबवेल के कनेक्शन नहीं मिलने पर कहा कि न तो तो खुद नैना चौटाला की चल रही है और न ही उनके चाचा रणजीत सिंह चौटाला व् उनके बेटे उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की चल रही है | जनता को बताये की आखिर सरकार में चल किसकी रही है , कौन जनता की समस्याओं का समाधान करेगा | वही नवीन जयहिंद ने जनता की समस्याओं पर बात करते हुए कहा कि आज हमारे बुजुर्ग सबसे ज्यादा परेशान है |आज हजारों ऐसे बुजुर्ग है जिन्हें इस पेंशन की जरूरत है और इनकी पेंशन काट दी गई |एक बुजुर्ग को न तो कागज कार्यवाही समझ आती है और न ही वो इतना सक्षम होता है कि बार - बार सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटता रहे | जयहिंद ने वही परिवार पहचान -पत्र का भी जिक्र करते हुए कहा कि परिवार पहचान पत्र के नाम पर जनता को परेशान किया जा रहा है | लोगों अपने काम धंधे छोड़ कर इस एक कागज के टुकड़े के पीछे हुए है | ये परिवार परेशान पत्र बन गया है | पीपीपी के चक्कर में बच्चो के एडमिशन नहीं हो पा रहे है , सरकार स्कीमों के नाम पर जनता को सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटने पर मजबूर किया जा रहा है| जयहिंद ने प्रदेश के लाखों गरीबो के BPL राशनकार्ड काटे जाने पर भी सरकार को घेरते हुए कहा कि जो परिवार गरीब है| हजारों गरीबों के सरकार ने जमीनी स्तर की स्तिथि जाने बिना उनके राशनकार्ड कर दिए | अब वे सरकारी दफ्तरों में एप्लीकेशन देने के आलावा कुछ नही कर पा रहे है| प्रशासन से बार-बार गुहार लगाने के बावजूद भी उनके राशनकार्ड नहीं बना रहे है | उन्होंने कहा कि आज भी हमारे पास हर रोज सैकड़ों फ़ोन आते है जो कहते है कि बुढ़ापा पेंशन काट दी, राशनकार्ड नहीं है, पीपीपी कार्ड में समस्या है | वही जयहिंद ने बेरोजगारी के मुद्दे को बड़ी प्रबलता से उठाते हुए कहा कि आज युवा को सबसे ज्यादा रोजगार की जरूरत है |जब " बेरोजगारों की बारात" निकली गई थी तो मुख्यमंत्री ने बयान दिया था की 65 हजार भर्तिया की जायेगी, लेकीन अब वे बताये कि कहा है 65 हजार भर्तियाँ| CET का मामला कोर्ट के अंदर उलझा हुआ है | युवा CET क्वालीफाई को लेकर सड़कों पर उतरे थे लेकिन सरकार या भर्ती आयोग पर कोई असर तक नहीं हुआ | एक भी ऐसी भर्ती नही है जो बिना कोर्ट हस्तक्षेप के पूरी हुई हो | जयहिंद ने आगे कहा कि कर्मचारी वर्ग चाहे क्लर्क, पुलिस हो या फिर जेल कर्मचारी हो सब अपने मेहनताने के लिए धरना -प्रदर्शन करने पड़ रहे है | जयहिंद ने प्रदेश शहीद जवानों के सम्मान के मुद्दे को भी उठाते हुए कहा कि विधानसभा में बैठे सभी सदस्यों से जनता का सवाल है, जब क्रिकेटरों या किसी अन्य खिलाडी को जीतने पर करोड़ों रूपये मिल रहे है तो एक शहीद जवान जो देश के लिए अपनी जान तक न्योछावर कर गया उसे उचित सम्मान क्यों नहीं मिल रहा है | एक जवान जिसने देश के लिए आपनी जान तक देदी असली हीरो वही है | उसके परिवार को "राष्ट्र-परिवार" घोषित किया जाना चाहिए | वही जयहिंद ने कहा कि मुख्यमंत्री या फिर सरकार के तरफ से किसी के पास इतना टाइम नही है कि वे नेता जी सुभाषचंद्र बोस को याद कर सके | लेकिन मार्केटिंग के कार्यक्रम में पहुंचने के लिए उनके पास टाइम है | हमारे शहीदों का अपमान किया जा रहा है क्योंकि उनका कोई वोट बैंक नहीं है | सरकार के साथ-साथ विपक्ष से भी यही कहेंगे की विधानसभा में जनता की समस्याओं पर आवाज उठाओं | जनता समस्याओं का समाधान चाहती है न कि नूरा कुश्ती | *इसी में बॉक्स सरकार के फूफा दादा दुलीचंद को फिर आना पड़ेगा जयहिंद - जयहिंद नवीन जयहिंद सासंद रामचन्द्र जांगड़ा और मेयर मन मोहन गोयल को मिलने वाली पेंशन पर भडके और सरकार पर बयानी हमला बोला | उन्होंने सबसे पहले सरकार का सांसद साहब और मेयर जी को 2750 रूपये की राशि देने पर धन्यवाद किया | उन्होंने कहा कि सरकार अमीरों को घर बैठे पेंशन बाँट रही है और गरीबो की पेंशन काट रही है | सरकार का प्रदेश की गरीब जनता और बुजुर्गों का मजाक बना रही है | इसी में बॉक्स - सरकार न तो भाईचारा चाहती है , न नशे को खत्म करना - जयहिंद उन्होंने पानीपत में उन पर हुए झूठे मुकदमे को सरकार की साजिश बताते हुए कहा कि सरकार पिछले पांच साल से चुप थी लेकिन जैसे ही उन्हें लगा कि नवीन जयहिंद तो जनता की आवाज उठाने लगा है तो सरकार को समस्या हो गई है | इस मामले में उन्हें और उनके साथियों को बार-बार थानों -कोर्ट के चक्कर कटवाए जा रहे है | लेकिन सरकारी ये नहीं जानती कि वे इससे परेशान होने वाले नहीं है | एक या एक सौ झूठे केस भी कर देगी तो भी वे जनता की समस्याओं को लेकर सड़कों पर उतरते रहेंगे | रविवार 27 अगस्त को रोहतक बाग़ में होगा गौरी गाय के जन्मदिन पर देशी गई का भंडारा जयहिंद ने इस मौके पर बताया कि उनकी गाय गौरी का जन्मदिन वे 27 अगस्त को मना रहे है | क्योकि इस गाय की बदोलत हजारों लोगों को कोरोना काल में कई तरह की बिमारियों से लड़ने में मदद मिली थी | साथ ही इस दिन उनके बछड़े का नामकरण भी इसी दिन किया जायेगा | इस अवसर पर भंडारे में प्रसाद गृहण के लिए सभी प्रदेशवासी आमंत्रित है |

चंदा मामा अब दूर नहीं नजदीक के हुए - जयहिंद चंद्रयान 3 की सफलतापूर्वक लैंडिंग पर नवीन जयहिंद ने सभी देशवासियों और वैज्ञानिकों को शुभकामनाएं दी ।

चंद्रयान 3 के सफल लैंडिंग के समय नवीन जयहिंद और उनके साथियों ने सेक्टर 6 स्थित बाग में जश्न मनाते हुए रॉकेट छोड़े और भारत माता की जय के नारे लगा कर इस एतिहासिक दिन को त्यौहार की तरह मनाया। मिठाई बांट इस सफलता का जश्न मनाया गया । नवीन जयहिंद ने कहा कि भारत ने विश्व पटल पर एक और जीत हासिल की है। उन्होंने कहा कि चंदा मामा अब दूर के नहीं नजदीक के हो गए है।

Find Us on Facebook